Chachi ko sex karne ke lie ready kiya


Author :Unknown Update On: 2015-11-26 04:57:41 Views: 1668

हाय फ्रेंड्स वेलकम बेक. आई ऍम रोहित खान. मेरी पिछली सेक्स स्टोरी आपको बहुत ही पसंद आई और मुझे खूब कमेन्ट भी मिले और उम्मीद करता हु यह सेक्स स्टोरी भी आप लोगो को पसंद आये. और खास बात यह है इस स्टोरी कि यह घटना मेरे

साथ नहीं हुई है बल्कि किसी ने मुझे फ़ोन कर के बोला कि मेरे साथ ऐसा हुआ है और मुझे पूरी स्टोरी मेल की है. में बस उसे आप तक पहुचना चाहता हूँ. अब में इस सेक्स स्टोरी पर आता हु. हाय, में अकिल और हम लोग गाव में रहते है. मेरे

चाचा और उनकी वाइफ जयपुर में रहते है. मेरे चाचा का नाम शकील है और वो ट्रांसपोर्ट का बिज़नस करते है. और मेरी चाची का नाम मुमताज है जिसकी उम्र ३३ साल है वो दिखने में बहुत ही सेक्सी है उनका फिगर ३६ २८ ३६ है. में कुछ दिनों

के लिए चाचा के घर पर गया था ६ दिन में उनके साथ रहा और फिर वापिस लौट रहा था कि चाचा ने कहा कि वो दुबई जा रहे है १० दिन के लिए तो मेरे आने तक तू यही रुक जा. तेरी चाची को भी अच्छा लगेगा. मैंने कहा ठीक है. फिर चाचा चले गए. और

में चाची घर में अकेले रह गए. और मेरे दिमाग में गंदे विचार आने शुरू हो गए कि क्यों न १० दिनों में चाची को पटाके चोदु. मैंने प्लान बनाना शुरू किया. अगले दिन हम दिन भर बाहर घुमे और रात को घर आये और सोने कि तैयारी शुरू कर

दी. में और चाची अलग अलग रूम में सो रहे थे. तो चाची ने मुझे बोला कि उन्हें अकेले में डर लगता है. और अगर तुम्हे कोई ऐतराज़ न हो तो मेरे रूम में आ जायो. मेरे दिमाग में आया नेकी और पूछ पूछ. मैंने फ़ौरन हां नहीं बोला. पहले कहा

चाची जी में आप के साथ कैसे सो सकता हु. चाची बोली बेवकूफ में तेरी चाची हु तेरी गर्ल फ्रेंड नहीं जो इतना घबरा रहा है. मैंने कहा ठीक है और चाची के साथ सो गया. रात को मैंने अपना हाथ चाची कि कमर पर रख दिया. लेकिन उन्होंने

कोई रिएक्शन नहीं दिया. तो मेरी थोड़ी सी हिम्मत और बढ़ गयी. और मैंने अपना हाथ उनकी गांड पर फेरना शुरू कर दिया. तो मैंने महसूस किया कि चाची ने पेंटी नहीं पहनी है. उन्होंने सिर्फ नाइटी पहनी थी. लेकिन चाची ने फिर भी कोई

रिएक्शन नहीं किया. तो में समझ गया कि वो गहरी नींद में है. तो मैंने नाईटी में हाथ डाल कर गांड को टच किया और हाथ फेरने लगा. क्या बतायु दोस्तों बहुत ही कोमल गांड थी. कुछ देर तक ऐसा ही करने के बाद मैंने अपना हाथ बाहर निकल

लिया और अब हिम्मत नहीं हो रही थी हाथ आगे बढ़ने कि फिर में मुठ मार के सो गया. फिर सुबह मुझे डर था कि चाची गुस्सा करेगी लेकिन कुछ बोली नहीं फिर हम ने शाम को मूवी देखी. मूवी थोड़ी सेक्सी थी. घर आ कर मैंने चाची से पुछा कि

मूवी कैसे लगी.? तो उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसी मूवी पसंद है. और फिर हम सोने चले गए. और मैंने फिर से वोही हरकते करनी शुरू कर दी. . लेकिन आज भी सामने से कोई रियेक्ट या विरोध नहीं हुआ तो मेरी हिम्मत बढ़ गयी. और में अपना हाथ

चाची कि चूत कि तरफ ले गया. दोस्तों क्या.. चूत थी चाची कि एक दम क्लीन शेव और टाइट. ऐसा लगता था कि अभी तक वो वर्जिन है फिर मुझे लगा कि अभी चोद दू लेकिन सोचा कि कही चाची ने मना कर दिया और अलग सोने लगी तो टच करने का मौका भी

हाथ से निकल जायेगा. यह सोच कर मुठ मार ली और सो गया. इस तरह ४ दिन निकल गए. फिर अगली रात मैंने हिम्मत कि और चाची कि गांड पर अपना ८ इंच का लंड घिसने लगा. तभी चाची जाग गयी और बोली कि यह तुम क्या कर रहे हो. यह सब गलत है में

तुम्हारी चाची हू. मैंने कहा प्लीज १ बार करने दो चाची. पर वो मना किये जा रही थी. लेकिन मैंने भी अपनी जिद नहीं छोड़ी और उनके दोनों हाथो को पकड़ कर किस करने लगा. वो पूरी ताकत लगा कर छुटने कि कोशिश कर रही थी. लेकिन वो नाकाम

रही. फिर मैंने रस्सी से उनके हाथ बांध दिए और नाईटटी फाड़ दी. दोस्तों पहली बार चाची को पूरा नंगा देखा था. बिलकुल स्वर्ग कि अप्सरा लग रही थी. और वो रो रही थी. लेकिन में भी कहा मानने वाला था. मैंने कमरे कि लाइट चालू कि और

कैमरा निकल कर विडियो शूटिंग चालू कि. अब में चाची के करीब गया और उनके पुरे बदन पर हाथ फेरने लगा और चूमने लगा.. फिर उनको किस करना शुरू किया. और हाथो से बूब्स दबाने लगा. कुछ देर तक ऐसा करने के बाद फिर मैंने उनके बदन पर

किस करना स्टार्ट किया क्यूंकि उनको गरम जो करना था. अब में उनकी कोमल और मोटी मोटी गांड को चाटने लगा. कमाल का टेस्ट आ रहा था. मैंने सोचा कि जब गोडाउन इतना टेस्टी है तो शोरूम कितना टेस्टी होगा. फिर मैंने चाची कि चूत

पर हाथ फेरा और चाटना शुरू कर दिया. अब मुझे लग रहा था कि उनका विरोध ख़तम हो रहा है. लेकिन में रिस्क नहीं लेना चाहता था. उनको अभी और गरम करना था तो मैंने फिन्गेरिंग शुरू कर दी. बड़ी मुश्किल से ऊँगली अन्दर घुस रही थी. अब

चाची पूरी तरह से गरम हो चुकी थी. कुछ ही देर में वो झड गयी और मैंने उनके हाथ खोल दिए. तो उसने कुछ कहा नहीं. में उससे लिपट गया और किस करने लगा अब वो भी मेरा साथ देने लगी थी. मैंने अपना खडा लंड उसके मुह में दे दिया. वो

चूसने से मना कर रही थी . मैंने ज़ोरदार थप्पड़ मारा और कहा कि चुप चाप में जैसे कहू वैसे करती जा अब वो मेरा लंड चूसने लगी. और कुछ देर बाद मेरा भी निकल गया. तो दोस्तों इस तरह मैंने अपनी चाची के साथ पहली बार सेक्स किया. और

इसके बाद तो वो भी मान गयी थी. और वो कहानी फिर कभी…..

Give Ur Reviews Here