निधि की गुजराती चुत चोदी

('')


Author :Unknown Update On: 2015-11-28 08:50:14 Views: 1732

हाय! मेरा नाम राज है और में २२ साल का हू और गुजरात के भावनगर का रहने वाला हु. मुझे सेक्स स्टोरीज पढने का बहुत शॉक है. और आज यह कहानिया पढ़ते-पढ़ते मेरा दिल किया, कि मैं भी कुछ शेयर करू तो में अपनी फर्स्ट स्टोरी के साथ

हाज़िर हु. आई होप यु लाइक इट. मुझे गर्ल्स, भाभी और आंटी के साथ फिलेर्टिंग करना, सेक्स चैट, लॉन्ग ड्राइव और सेक्स करना बहुत पसंद है. अब मैं आपको और बोर न करते हुए सीधे अपनी ट्रू स्टोरी पे आता हूँ. बाकी बाते बाद में

करेंगे. यह बात तब की है जब मैं गांधीनगर में इंजीनियरिंग की पढाई कर रहा था. तब मैं अहमदाबाद रहता था. वहा से, मैं डेली गांधीनगर के लिए बस से अप डाउन करता था. मेरा कॉलेज का फर्स्ट डे था और थर्ड लेक्चर में एक मैम आई वो

बहुत ही क्यूट थी और उनकी उम्र २४ साल की थी. तब मैं १८ साल का एक वर्जिन बॉय था. मैंने उन्हें देखा और देखता ही रह गया. उन्हें देखते देखते एक घंटा कब ख़तम हो गया पता ही नहीं चला. मैम बहुत ही फ्री माइंड और फ्रेंडली टाइप की

थी और उनका नाम था निधि. सारे लड़के उनके बारे में सोच – सोच कर मुठ मरते थे. दुसरे दिन जब मैं बस पकड़ने के लिए बस स्टैंड पंहुचा, तो मैंने मैम को वह देखा और हम दोनों ने एक ही बस पकड़ी और फिर पता चला की हमारा टाइमिंग एक ही है.

और मैम भी मुझे पहचानने लगी और हम डेली आने जाने लगे. हम डेली एक दुसरे को नोटिस करते और मैं तो बस एक चांस ही ढूंढ रहा था बात करने का और एक दिन ऊपर वाले ने मेरी सुन ली. उस दिन गांधी नगर से अहमदाबाद वापिस लौटने की बहुत

सारी बस कैंसिल हो गयी थी. तो स्टैंड पर भीड़ बहुत जयादा थी. मैं भी बस स्टैंड पर ही खड़ा था और मैम डायरेक्ट आकर पूछने लगी की तुम राज ही होना फर्स्ट इयर की क्लास वाले. मैंने भी हां बोल दिया. फिर उन्होंने पुछा की आज स्टैंड

पर इतनी भीड़ क्यों है. मैंने कहा आज सारी बस कैंसिल हो गयी है इसलिए. एक बस आई और हम उस पर चढ़ गए पर भीड़ इतनी थी, कि पैर रखने की भी जगह नहीं थी. सो मैं डंडा पकड़ कर खड़ा था और भीड़ की वजह से मैम मेरे बहुत करीब खड़ी थी. हमारी बॉडी

एक दुसरे को टच कर रही थी. क्यूंकि कोई सपोर्ट नहीं था और सभी अनजान थे. सो मैम ने मेरे कंधे का सपोर्ट ले रखा था और उसी के सहारे वो खड़ी थी. बस शुरू हुई और मैम की बॉडी मेरी बॉडी से टच हो रही थी. मैं उनको पूरा महसूस कर रहा था

जैसे उनका परफ्यूम, उनके सिल्की हेयर मेरे फेस पर हवा की वजह से बार बार आ रहे थे, उनके सॉफ्ट बूब्स मेरी चेस्ट से दब रहे थे. और उनके इस टच से मेरा लौडा खड़ा हो गया था और जीन्स में भी उभार आ गया था और वो उभार मैम की बॉडी से

टच कर रहा था. मैम कुछ रिएक्शन नहीं दे रही थी. पर मैं पक्के से कह सकता हु, वो फील जरुर कर रही थी और में उनकी गर्मी को महसूस कर पा रहा था. करीब ३५ मिनट में हमारा स्टॉप आ गया और हम उतर गए और मैम जाते जाते मजाक में बोल गयी;

तूने कण्ट्रोल करने की बहुत कोशिश करी. पर यह तो नैचुरली है सो तेरे से नहीं होगा. मैं भी शर्मा कर रह गया. उसके दुसरे दिन, मैं और मैम बस में साथ थे. और हमे सीट भी साथ वाली मिल गयी. बस भी स्टार्ट हो गयी और हम एक दुसरे से बात

करने लगे. एक दुसरे को अपने बारे में बताने लगे और पर्सनल बाते भी की. और मैम ने बातो बातो में पुछा कोई लड़की पसंद आई कॉलेज में, अभी तक किसी को प्रोपोसे किया, कॉलेज में किसी को गर्ल फ्रेंड बनाया या पहले से कोई है???? मैंने

सही टाइम समझ कर बोल दिया की मैम हम तो आप को लेक्चर में देख लेते है, जी भर के फिर बाकी के लिए टाइम नहीं रहता; तो मैम हसने लगी और बोली चल मुझे ही प्रोपोज कर दो. तो मैं शर्मा गया और चुप हो गया और मन ही मन खुश हो रहा था. तभी

मैंने मैम का हाथ अपने लेग पर महसूस किया और फिर देखा की वो धीरे धीरे मेरे लंड की तरफ बढ़ रहा था और उसके पास आ गया. और अब उनका हाथ मेरे लंड के ऊपर था. वो अपने हाथ से मेरे लंड का साइज़ चेक कर रही थी पर में कुछ बोला नहीं और

क्यों बोलता मुझे तो फ्री में मजे मिल रहे थे. तो मैंने अपनी आँखे बंद कर ली और सोने की एक्टिंग करने लगा. और अपनी बैग को उनके हाथ के ऊपर रख दिया ताकि कोई देख न सके. वो चुप रह कर मेरे लंड के साथ खेलती रही. और मैंने उनको करने

दिया. मुझे भी अच्छा लग रहा था पर थोड़ी देर में हमारा स्टॉप आ गया और उतरते टाइम मैम ने मुझे बोला की, उनके २ लेक्चर फ्री है तो अगर मैं फ्री हु तो उनसे मिल लू. और एक स्माइल देकर चली गयी. मैं तो खुश हो गया भला टाइम कैसे नहीं

होगा मेरे पास तो टाइम ही टाइम है…. पर मुझे कोई एक्सपीरियंस नहीं था… पर मैंने टीचर और स्टूडेंट की बहुत सी पोर्न मूवीज देखी थी, सो मैंने सोचा उसी तरह ट्राई करूँगा सब स्टेप बाई स्टेप. उसके बाद तो में पूरा एक्साइट था

की मैम से मिलने जाना है और सही टाइम पर मैं उनके ऑफिस में पहुच गया. उन्होंने मुझे बैठने को कहा और खुद मेरे पास आकर खड़ी हो गयी और बोली कल और आज बस में तूने बहुत मजे ले लिए. अब मेरी बारी है और ऐसा बोल कर उसने मेरी टाई को

खिंचा अपनी तरफ और मेरे लिप्स दबोच लिए और किस करने लगी. मैं भी पूरा साथ देने लगा. ५ मिनट तक किस करने के बाद उन्होंने मेरी बॉडी पर लव बाईट देने शुरू किये. वो जोर से काट रही थी जैसे कोई कुत्ति हो. उसके लव बाईट से बॉडी में

जो फील हुआ, उसकी बात ही कुछ और थी. और फिर मैंने भी स्टार्ट किया उसके नैक पर, फिर उसके बूब्स पर जोर से काटा और उसके बाद हम ने कपडे उतरने शुरू किये. और दोनों नंगे हो गए. फिर मैं उसके नंगे बूब्स को चूसने लगा बहुत से लव

बाइट्स भी दिए फिर वो बोली मुझे भी चुसना है और अपना हाथ मेरे लंड पर ले गयी और बोली तेरा लंड तो मस्त है. एक दम परफेक्ट जो एक लड़की को चाहिए न छोटा न मोटा एक दम परफेक्ट साइज़. और चूसने लगी. वो उसे पंप की तरह चूस रही थी. और १५

में, मै उसके मुह में ही झड गया. वो मेरा सारा पानी पी गयी. मुझे मजा आ गया था. ऐसा लगा लग रहा. कि आज से पहले किसी ने मेरा लौड़ा चूसा ना हो. उसके बाद मैंने पोर्न फिल्म की तरह उसको टेबल पे सुला दिया और उसकी चुत चाटने लगा. उसके

मुह से आवाज़े निकलने लगी आःह्ह…. ऊऊ…. उमाआ…. प्लीज……. टेक ममी हायर प्लीज….. अब मैंने अपनी जीभ से उसकी चुत पर लिकिंग करनी शुरू कर दी. और फिर उसके होल को ओपन कर के जो सब से सेंसिटिव एरिया होता है. वहां लिकिंग करने लगा. वो

बहुत एक्साइट हो गयी थी. और चिल्ला रही थी पर उसका ऑफिस साउंड प्रूफ था सो आवाज़ बाहर नहीं जा सकती थी, इसलिए कोई प्रॉब्लम नहीं थी. मैं उसको एक्साइटमेंट की उस हद तक ले गया की वो झड गयी. मैंने फर्स्ट टाइम किसी लड़की की चुत

का पानी टेस्ट किया था, उसका टेस्ट साल्टी था. फिर मैं उसकी बॉडी को सहलाने लगा और कुछ टाइम वो फिर से रेडी हो गयी और बोली फक मी. प्लीज… मुझसे कण्ट्रोल नहीं हो रहा और मेरा लौडा अपने हाथ में लेकर अपनी चुत पर रखने लगी और

मुझे बोली फक मी…. फक मी… मैंने अपना लंड उसकी चुत पर सेट किया और धक्का दिया और अब में उसके ऊपर लेट गया और अपने लौड़े को अन्दर बाहर करने लगा. वो बहुत चिल्ला रही थी अहः अहः हाहाह ऊओहोहोह. सो मैंने उसको किस करना शुरू कर

दिया ताकि आवाज़ ऑफिस के बाहर न जा पाए क्यूंकि वो इतनी तेज़ चिल्ला रही थी, कि साउंड प्रूफ डोर भी बेकार लग रहा था. हमने १५ मिनट तक सेक्स के मज़े लिए और बारी बारी हम दोनों झड गए. उस दिन के बाद जब भी मुझे या उसको कॉलेज में

टाइम मिलता तो हम सेक्स कर लेते. पर अब उनकी शादी हो गयी है सो वो चली गयी अपने हस्बैंड के साथ. पर अभी भी में जब निधि मैम के बारे में सोचता हु तो दिल में गुदगुदी सी हो जाती है की काश.. वो दिन वापिस आ जाये. पर फिर लगता है, कि

वो जहा रहे खुश रहे बस हमे कभी कभी याद कर लिया करे…. अगर आपको मेरी यह स्टोरी पसंद आई तो अपने कमेंट्स मुझे जरुर भेजे….

Give Ur Reviews Here