Home
Category
Sex Tips
Hinglish Story
English Story
Contact Us

गंदा है पर धंधा है ये 3


दोस्तों ये कहानी आप सेक्सवासना डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

सेक्सवासना के सभी रीडर्स से रिक्वेस्ट है की ये कहानी पढ़ने से पहले, मेरी कहानी के पहले दो भाग पढ़ लें. अब तक आपने पढ़ा – रात बार, उन दोनों लड़कों ने दीदी को बस मिशनरी पोज़ मे 1-1 करके चोदा. सुबह मे 4 बजे, उन दोनों

लड़कों को आंटी ने जाने को कहा और वो दोनों चले गये और आंटी न उनसे बोला – बिना इन्वाइट किए, मत आना.. दीदी ने आंटी से बोला – मुझे राहुल जीजू का भी लेना है… मस्त कहानियाँ हैं, सेक्सवासना डॉट कॉम पर !!! !! राहुल अंकल, खुद ही

बोल पड़े – इसके लिए, मेरी कुछ शर्तो को मानना होगा और दीदी के कान में कुछ बोला. दीदी ने सिर हिला कर “हाँ” बोल दिया.. अब आगे – राहुल अंकल ने दीदी के कानों में कुछ कहा तो दीदी ने मुस्कुरा के हाँ कह दिया और पेट के बल,

बिस्तर पर लेट गई. अंकल ने दीदी के पेट के नीचे 2 पिलो रख दिए तो अब दीदी की गाण्ड उँची हो गई और उसका छेद भी अब क्लियर दिखने लगा. रश्मि आंटी समझ गई की उनके हसबैंड, अब दीदी की गाण्ड मारना चाहते हैं. उन्हें तो जैसे, कोई

ऐतराज़ ही नहीं था. मैं ये सोच के भी उस समय हैरान थी. मतलब बीवी, अपने पति को किसी और लड़की की गाण्ड मारते अपनी आँखों से देखेगी. यहाँ, अंकल ने दीदी की गाण्ड पर थूक गिराया और उससे दीदी की गाण्ड के छेद पर लगा कर, ऊपर ही

ऊपर से दीदी की गाण्ड के छेद की मालिश करने लगे. (इससे गाण्ड का छेद थोड़ा बड़ा हो जाता है और थोड़ा चौड़ा भी, जिससे लण्ड आराम से अंदर चला जाता है.) अब मुझे ये पता है. उस टाइम मे ये सब बातें, नहीं समझ सकती थी. मैं उस समय,

केवल 12 वी क्लास में थी. मैं ये सब बगल के रूम से रात भर देख रही थी. थोड़ी देर तक, अंकल ने गाण्ड के छेद पर ही थुका और बाहर ही बाहर, छेद पर उस थूक को मलते रहे. मस्त कहानियाँ हैं, सेक्सवासना डॉट कॉम पर !!! !! फिर उन्होंने एक

बार गाण्ड के छेद पर काफ़ी ज़्यादा थुका और एक उंगली दीदी के गाण्ड के छेद मे सरका दी. दीदी को थोड़ी परेशानी हुई पर एक मिनट में ही वो नॉर्मल हो गई. फिर 5 मिनट तक, अंकल ने दीदी की गाण्ड के छेद में एक उंगली से मालिश की और

उसके बाद एक बार फिर काफ़ी सारा थूक गिराया और दो उंगलियाँ अंदर डाली. दीदी को फिर से थोड़ी परेशानी हुई पर 2-3 मिनट मे ही, वो नॉर्मल हो गई. राहुल अंकल ने रश्मि आंटी से बोला की अब इसको कस के पकड़ लो… आख़िर, ये इसका गाण्ड

में पहली टाइम जो है. आंटी बेड पर चड़ी और दीदी की पीठ पर अपना पूरा वेट दे कर बैठ गई. उसने पीछे से दीदी के दोनों हाथ भी पकड़ लिए. अब दीदी, हिल भी नहीं सकती थी. राहुल अंकल ने दीदी की दोनों टाँगों को पकड़ कर, पूरा अलग

किया और दीदी की गाण्ड के चीक्स को भी दोनों हाथ से पकड़ कर दोनों साइड मे ज़ोर लगा कर अलग करने लगे. दीदी को ऐसा लगा की उनकी गाण्ड, बीच से अलग हो जाएगी पर अंकल को इसका बहुत तजुर्बा है. फिर उन्होंने आंटी और खुद के मुंह

से अपना थूक अपनी हथेली में लिया और दीदी की गाण्ड के छेद में लगा कर, वहाँ पर मालिश करने लगे. थोड़ी ही देर मे, दीदी को मज़ा आने लगा और दीदी नीचे से गाण्ड उठा उठा कर ऊपर करने लगी. मस्त कहानियाँ हैं, सेक्सवासना डॉट कॉम

पर !!! !! अब अंकल समझ गये की दीदी पूरी जोश में है और गाण्ड मरवाने तो तैयार है. राहुल अंकल ने फिर अपने लंबे 8 इंच के काले हिलते हुए लण्ड पर थूक लगाया और दीदी के गाण्ड के छेद पर लगाया और दीदी की गाण्ड में 1 ही धक्के मे 4 इंच

अंदर कर दिया. दीदी बुरी तरह चीखने लगी तो उनकी पीठ पर बैठी, आंटी ने दीदी को शांत कराया. फिर दीदी की गाण्ड में फँसे लण्ड पर आंटी ने अपना थूक गिराया और दीदी की गाण्ड में धीरे धीरे आगे पीछे करने लगे. थोड़ी ही देर में,

दीदी का गाण्ड के छेद अंकल के लण्ड का आदि हो गया तो दीदी नीचे से अपनी गाण्ड को ऊपर की और धक्का मारने लगी. अंकल ने ये देख कर, अपना लण्ड थोड़ा और अंदर कर दिया. 6 इंच अंदर जाकर ऐसा लगा की लण्ड और अंदर नहीं जा पाएगा. दीदी

ने अंकल और आंटी से बोला – अब नहीं जाएगा… तो आंटी बोली – ठीक से घुसाया जाए तो गाण्ड में घोड़े का 18 इंच का भी लण्ड घुसाया जा सकता है, मेरी रानी… दीदी ने उसी पोज़ में आंटी को चैलेंज मारते हुए कहा – अगर आप और अंदर घुसा

सको, तो जो बोलो वो करूँगी… आंटी ने बोला – तो फिर देख तमाशा… आंटी ने दीदी की पीठ पर बैठे हुए ही दीदी की गाण्ड की पोज़ थोड़ी और उँची की और दीदी की चूत और उनकी गाण्ड (माउंटन ऑफ वीनस) को सहलाया और उनका सीधा पैर ऊपर ले

जाकर, दीदी के सिर से मिला दिया. (इस पोज़ में लण्ड और अंदर तक चला जाता है. लड़कों और लड़कियों को ये पता है.) आंटी ने दीदी को इस पोज़ में किया और अंकल को इशारा किया, तो अंकल ने दीदी की गाण्ड से लण्ड को पूरा बाहर निकाल कर

एक ही धक्के में लण्ड पूरा 8 इंच अंदर तक डाल दिया. मस्त कहानियाँ हैं, सेक्सवासना डॉट कॉम पर !!! !! दीदी की आँखों के सामने, अंधेरा छा गया. (ऐसा कभी कभी हो सकता है पर नो प्राब्लम इन इट.) दीदी को 2-5 मिनट लगे, नॉर्मल होने

मे. आंटी दीदी के छेद की मालिश करती रही. 5 मिनट में, जब सब कुछ नॉर्मल हो गया तो अंकल ने ऊपर से ही धीरे धीरे धक्के मारने स्टार्ट किया. दीदी की गाण्ड से अब “छीछी” भी अंकल क लण्ड के साथ बाहर आ रहा था. जब “छीछी” बाहर आने

लगा तो दीदी को ज़्यादा मज़ा आने लगा. कहानी जारी रहेगी.. अगर आपको मेरी कहानी पसंद आई तो अपना फीड बैक अवशय भेजें..
दोस्तों आज की एक और नई सेक्स कहानी पड़ने के लिये यहाँ क्लिक करें।
Notice For Our Readers

दोस्तो डाउनलोड क्र्रे हमारा अफीशियल आंड्राय्ड अप (App) ओर अनद लीजिए सेक्स वासना कहानियो का . हमारी अप(App) क्म डेटा खाती है और जल्दी लोड होती है 2जी नेट मे वी ..अप(App) को आप अपने फोन मे ओपन रख सकते है

अप(App) का डिज़ाइन आपकी प्राइवसी देखते हुए ब्नाई गयइ है.. अप(App) का अपना खुद का पासवर्ड लॉक है जिसे आप अपने हिसाब से सेट कर सकते ह .जिसे दूसरा कोई ओर अप(App) न्ही ओपन क्र सकता है और ह्र्मारी अप(App) का नाम sxv शो होगा आफ्टर इनस्टॉल आपकी गॅलरी मे .

तो डाउनलोड करे Aur अपना पासवर्ड सेट क्रे aur एंजाय क्रे हॉट सेक्स कहानियो का ...
डाउनलोड करने क लिए यहा क्लिक क्रे --->> Download Now Sexvasna App

हमारी अप कोई व किसी भी तारह के नोटिफिकेशन आपके स्क्रीन पर सेंड न्ही करती .तो बिना सोचे डाउनलोड kre और अपने दोस्तो मे भी शायर करे

   Please For Vote This Story
0