पत्नी की चूत खुली पति का लण्ड लुल्ली 1


Author :कशिश Update On: 2016-01-31 Views: 1983

प्यारे दोस्तो, जिंदगी में सिर्फ़ चुदाई के बारे में लिखना एक कठिन काम है और खास कर के एक लड़की के लिए। जैसा की मैंने आप को बताया है, मैंने अलग अलग प्रकार से चुदाई करवाई है और वो आप को बताने में कभी भी पीछे नहीं रही

हूँ। मेरे रास्ते में कई रुकावटें आई.. !! कुछ लोग, मुझे पसंद नहीं करते, शायद वो मेरे उनके साथ चुदवाने को ना कहने की वजह से मुझे पसंद नहीं करते.. !! मैंने पहले ही कहा है की अपनी चुदाई के बारे में लिखने का ये मतलब नहीं है

की कोई भी मुझे चोद सकता है। खैर, इन सब ने मुझे और भी मज़बूत किया है। अब पेश है मेरा नया कारनामा, शादी के बाद चुदाई… … मैं उन भाग्यशाली लड़कियों में हूँ जो एक बहुत ही खूबसूरत, सुखी और संतुष्टि के साथ चुदाई की

जिंदगी जी रही है। मैंने अपनी शादी के पहले भी कई बार शानदार चुदाई करवाई है और अब शादी के बाद और भी शानदार चुदाई करवा रही हूँ। इस का कारण, शायद शादीशुदा होने के बाद चुदाई का परमिट मिलना है, खास कर के अपने देश

में। आप सब को तो पता ही है की किसी भी जोड़े की प्यार में अंतिम मंज़िल होती है चुदाई, भले ही वो प्रेमी जोड़ा हो, पति पत्नी हो या किसी और प्रकार का मर्द – औरत का जोड़ा हो.. !! ये बात, सब पर लागू है चाहे वो मर्द औरत का

जोड़ा हो, दो औरतों का जोड़ा हो, दो मर्दों का जोड़ा हो या सामूहिक संभोग हो। सब की मंज़िल एक ही है और वो है – चुदाई, पर मेरा ये मान ना है की चुदाई एक “कला” है.. !! आप चुदाई को हमेशा एक नया रूप दे सकते हैं, अलग अलग जगह पर,

अलग अलग तरीके से और हमेशा कुछ नया करके, चुदाई को बहुत ही शानदार बना सकते हैं। बहुत से लोग, इस कला को जानते हैं और मेरे जैसी लड़की तो हमेशा हर चुदाई को एक नई चुदाई समझती है। वरना, आप को पता है की चुदाई में कुछ नया नहीं

है, चूत में लण्ड डालो और चुदाई कर लो। चुदाई, इस धरती का सबसे पुराना खेल है और इस को हमेशा नया बना कर रखना चाहिए। शायद, आप मेरी बात से सहमत होंगे। मस्त कहानियाँ हैं, सेक्सवासना डॉट कॉम पर !!! !! अब तक, मैंने आप को मेरे

हनी मून के बारे में बताया जो हमने यूरोप में मनाया था.. !! जहाँ, मैंने पहली बार अपने पति से पूरी तरह गाण्ड मरवाने के मज़े लिए थे.. !! मैंने कभी भी नहीं सोचा था की गाण्ड मरवाने में भी इतना मज़ा आता है। मेरे पति भी गाण्ड

मारने के आनंद से इस से पहले अंजान थे क्यों की उन्होंने भी पहली बार किसी की गाण्ड मारी थी। अब गाण्ड मरवाना, मेरी चुदाई की जिंदगी का एक ज़रूरी हिस्सा बन चुका है.. !! मैं रोज तो गाण्ड नहीं मरवाती, पर जब भी हम दोनों का

मन होता है, वो मेरी गाण्ड मारते हैं और मैं गाण्ड मरवाती हूँ। कई बार, अपने पति से गाण्ड मरवा चूकने की वजह से मेरी गाण्ड का छेद और अंदर का भाग कुछ बड़ा हो चुका है और अब मुझे उनका बड़ा और मोटा लण्ड अपनी गाण्ड में लेने

पर बिल्कुल भी दर्द नहीं होता, सिर्फ़ मज़ा आता है, वो भी दोनों को। मुझे दूसरी औरतों के बारे में तो पता नहीं है जो अपने साथी से गाण्ड मरवाती है, पर मैं तो गाण्ड मरवा कर बहुत ज़ोर से झड़ती हूँ। ये एक और रास्ता है,

चुदाई के मज़े लेने का.. !! मस्त कहानियाँ हैं, सेक्सवासना डॉट कॉम पर !!! !! हम अपने लंबे, तीन सप्ताह के हनी मून से वापस आए और मेरे पति उसके एक सप्ताह के बाद देल्ही चले गये क्यों की उनकी छुट्टियाँ ख़तम हो गई थीं। आप की

जानकारी के लिए बता दूं की वो देल्ही में एक मल्टी नेशनल कंपनी में मार्केटिंग हेड हैं। मेरा अधिकतम समय, मेरे सास ससुर के साथ बीत रहा था और मुझे कभी भी ऐसा नहीं लगा की मैं इस घर में नई हूँ। आप सब जानते हैं की मैं

कितनी सेक्सी हूँ और अपने आप को चुदाई से दूर ज़्यादा दिनों तक नहीं रख सकती। मेरे दिन तो आराम से अपने सास ससुर के साथ निकल रहे थे, मगर रातें अपने पति के बिना बहुत लंबी लग रही थीं। इस दौरान, मैं अपने पति से करीब दो

सप्ताह तक दूर रही थी मगर हम फोन पर रात को घंटो बात किया करते थे। हम बहुत सेक्सी बातें करते हुए एक दूसरे को काफ़ी गरम कर देते थे। सेक्सी बातें करते हुए हम दोनों ही अपने हाथ इस्तेमाल करके, वो अपने लण्ड को और मैं

अपनी चूत को शांत करते थे। मेरी पुरानी आदत है की मैं रात को अपने बिस्तर में बिना कपड़ों के, नंगी ही सोती हूँ.. !! मुझे बिस्तर में नंगा सोना ही पसंद है चाहे मैं अकेली हूँ या फिर अपने पति के साथ। ज़्यादातर, हम रात को 11

बजे बात करते थे। वो मुझे पूछते थे की दिन में मैंने क्या क्या किया और जल्दी ही हमारी बातें प्यार की बातों में, चुदाई की बातों में बदल जाती थीं। वो हमेशा, मुझे मेरी चुचियों के बारे में, गाण्ड के बारे में और मेरी चूत

के बारे में पूछते थे और मैं उनको उनके चुदाई के औज़ार लण्ड के बारे में पूछती थी। आप मेरे जैसी सेक्सी लड़की की हालत समझ सकते हैं, जो अपने चुदाई के जोड़ीदार से दूर थी। लेकिन, ये जुदाई का समय भी निकल गया और अब समय आ

गया था की मैं उनके पास जा रही थी, अपने नये घर में, अपने चोदु के पास, अपने चुड़क्कड़ पति के पास, मेरा नया घर मेरी चुदाई का इंतज़ार कर रहा था। सफर जारी है… … अपने सुझाव और राय भेजना बंद मत कीजियेगा।

Give Ur Reviews Here