Home
Category
Tips Hinglish Story
English Story
Contact Us

गंदा है पर धंधा है ये 10


दोस्तों ये कहानी आप सेक्सवासना डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

वो उन दिनों काफ़ी कम सोती थी. उसका पूरा ध्यान “सेक्स और पैसों” पर ही था. केवल 1 महीने में ही, दीदी ने अपनी चूत के दम पर 12 लाख बना लिए और उसको अपने बैंक के अकाउंट में जमा किया. मुझे याद है, बैंक में डेपॉज़िट करने के

अगले दिन ही मम्मी घर वापस आ गई. उनके आने के कुछ दिनों बाद तक घर पर सब कुछ ‘शांत’रहा. दीदी ने भी अपना माइंड कुछ दिनों के लिए सेक्स पर से हटा लिया था शायद या वो काफ़ी थकान महसूस कर रही थी या दीदी के दिमाग़ मे कुछ और ही

चल रहा था… … अब आगे की स्टोरी – मम्मी के गाँव से आ जाने के बाद, दीदी एकदम शांत रहती थी. बस हमेशा बुक्स खोल के पढ़ने का दिखावा करती थी या शायद पढ़ती भी थी क्यूंकी उसे पढ़ना बहुत पसंद था. हमारे पड़ोसी, हमारे परिवार

से जलन रखते थे क्यूंकी उस कॉलोनी में हमारा परिवार ही सबसे अमीर था इसलिए दीदी ने क्या क्या ‘गुल’खिलाया, वो सब मम्मी को नहीं पता चला. मस्त कहानियाँ हैं, सेक्सवासना डॉट कॉम पर !!! !! दीदी ने भी चैन की साँस ली पर हमारे

कुछ पड़ोसी दीदी पे ‘गंदी नज़र’रखते थे. उनके दिमाग़ में, अब दीदी को घेरने की प्लांनिंग चल रही थी. अब मैं, कॉलेज में आ गई थी. मैं रोज़ 7 बजने पर जाती थी और 2 बजे वापस आती थी. दीदी का कॉलेज, 10 बजे से 4 बजे तक चलता

था. मम्मी की ड्यूटी, कभी दिन में और कभी कभी रात मे लगती थी. इसी तरह, हमारी लाइफ 1 महीने तक बहुत मस्त चली. उसी 1 महीने के अंदर, सामने वाले राहुल अंकल और रश्मि दीदी का ट्रांसफर कहीं और हो गया और वो दोनों वहाँ से शिफ्ट

कर गये. जाते वक़्त, दीदी रश्मि से लिपट कर काफ़ी रोई और दोनों काफ़ी दुखी थी. इधर, दीदी कॉलेज जानी लगी तो जिन 2 लड़कों ने दीदी के साथ पैसे देकर रात गुज़री थी, उन दोनों ने, दीदी को कॉलेज मे बदनाम कर दिया. शायद

उन्होंने दीदी का वीडियो बना लिया था जो अब उनके कॉलेज में हर लड़के के मोबाइल पर था. मैं ये भी सुना की आते जाते खुले आम, लड़के उनके मम्मे दबा देते थे. एक लड़के ने तो क्लास में, उनकी लेगिंग ही नीचे खींच दी थी. यहाँ तक

की शादी के बाद भी, उसकी “बदनामी का सिलसिला” नहीं रुका. एक दिन बाज़ार में, जीजाजी और उनके सास सासुर के सामने ही दीदी का एक आशिक जो अब एक पुलिस वाला था, मिल गया. मस्त कहानियाँ हैं, सेक्सवासना डॉट कॉम पर !!! !! वो बहुत

दारू पिया था और उसने भरे बाज़ार, सबके सामने दीदी की और उनके परिवार की बहुत बेइज़्ज़ती की. जीजाजी, हालाकी एक अच्छे इंसान थे पर उनके सास ससुर ने उन्हें वापस मायके भेज दिया. कुछ दिन बाद, जीजाजी के बीच बचाव से मामला

शांत हुआ. दीदी ने हालाकी जीजाजी को अपने 3 4 बॉय फ्रेंड होने के बारे में बता दिया था पर पूरी असलियत, वो भी नहीं जानते थे. दीदी थी तो चालू, उसने बड़ी होशियारी से काफ़ी बातें छिपा लीं थीं. जीजू ने भले ही बात खत्म कर दी

हूँ पर दीदी के पुरे ससुराल ने, फिर कभी दीदी को एक्सेप्ट नहीं किया. दीदी और जीजू, अब भी अलग ही रहते हैं. जैसा मैंने आपको बताया था, कुछ समय बाद उनको एड्स या ऐसी ही कुछ बीमारी हो गई थी. दीदी, वैसे तो जीजाजी से प्यार

करती थी. ये मुझे तब लगा, जब जीजाजी के बीमार होने पर वो काफ़ी उदास रहने लगी. किसी ओझा या तांत्रिक के कहने पर दीदी ने अपनी एक सहेली, सोनम तक को जीजाजी से चुदवाया. क्यूंकी दीदी पूरी छीनाल थी और जीजाजी लड़की के मामले

में एकदम “गाय”. एक लड़की और उनकी साली होने के नाते, मैं भी इस बात को प्रमाणित कर सकती हूँ. ये सब कैसे दीदी ने किया, ये तो मैं नहीं जानती पर उनके मोबाइल पर मैंने रेकॉर्डिंग देखी और दीदी से पूछा. ये ही नहीं दीदी, अब

भी ना जाने क्या क्या धतकरम करती है जीजू के लिए. इसलिए ये तो मैं जानती हूँ वो जीजू को दिल से चाहती है पर असल में जीजू की बीमारी का कारण भी वही है. मस्त कहानियाँ हैं,सेक्सवासना डॉट कॉम पर !!! !! मैंने कई बार दीदी को

यहाँ आने पर रात में, रोते हुए सुना पर मैं कुछ नहीं बोली. इंसान को अपनी करनी का फल, खुद ही भुगतना पड़ता है. खैर… दीदी, अब कॉलेज नहीं जाती थी. बहुत ही मजबूरी में, कभी कभार जाती थी. मम्मी दफ्तर चली जाती और मैं भी अपने

कॉलेज चली जाती और दीदी घर पर अकेले रह जाती. इसी तरह, 1 महीना और गुजर गया. मुझे लगा की दीदी को अब अपने द्वारा की गई ग़लतियो का पछतावा हो रहा है. एक दिन, मैं कॉलेज से 2 बजे वापस आई तो मैंने डोर पर कॉल-बेल रिंग किया तो

दीदी ने 5 मिनट बाद डोर ओपन किया. दीदी का चेहरा एकदम लाल था और पूरा शरीर, पसीने से भीगा हुआ था. मुझे समझ नहीं आ रहा था की क्या पूछूँ… ?? दीदी का चेहरा लाल क्यों है और वो पसीने से भीगी क्यों हैं… ?? मैंने कुछ नहीं

बोला. मस्त कहानियाँ हैं,सेक्सवासना डॉट कॉम पर !!! !! किचन गई और अपना खाना ले कर, अपने रूम में खाया. जब मैंने खाना खा लिया तो दीदी मेरे रूम में आई और उन्होंने मेरे को बोला – अंजली, मुझे तुम्हारी हेल्प चाहिए… मेरा एक

काम करो और इस बारे में किसी को नहीं बताना… मैंने पूछा – बोलो दीदी, क्या करना है… ?? तो वो बोली – वादा करो… ?? इस बारे में किसी को भी नहीं बताओगी… ?? मैंने वादा कर दिया पर मुझे समझ नहीं आ रहा था की ऐसा क्या करना पड़ेगा…

?? दीदी उसके बाद किचन से 2 मोमबत्ती ले आई और 1 की बत्ती जला दी. उसके तुरंत बाद, वो पूरी की पूरी “नंगी”हो गई. मैंने उनकी बॉडी देखी तो देखते ही रह गई. सच में, कितनी सुंदर थी वो. कहानी जारी रहेगी.. अगर आपको मेरी कहानी

पसंद आई तो अपना फीड बैक अवश्य भेजें..
Notice For Our Readers
Download Now Sexvasna App

हमारी अप कोई व किसी भी तारह के नोटिफिकेशन आपके स्क्रीन पर सेंड न्ही करती .तो बिना सोचे डाउनलोड kre और अपने दोस्तो मे भी शायर करे

   Please For Vote This Story
3
1

2015 © Sexvasna.Com