चटकारे चूत के


Author :Mr.Sikari Update On: 2016-04-01 Views: 2540

ये कहानी, हम दो कपल्स की है की कैसे हमने, एक दूसरे की गर्ल फ्रेंडस की अदला बदली की और उनकी चुदाई की. मेरी गर्ल फ्रेंड और उसकी मम्मी, दोनों बहुत खुश थी क्योंकि उनकी बेटी एक ऐसे घर में जाने वाली थी, जहाँ उसे बहुत सारा

प्यार और अपनापन मिलता है और उसकी और मेरे घर वालों ने, हम दोनों की सगाई भी करवा दी थी. सगाई के बाद, अब हम दोनों मुंबई में रहते हैं, पढ़ाई की वजह से और हमारी फैमिली पुणे में रहती है.. हम दोनों ने एक फ्लैट ले लिया है और

वहां “हज़्बेंड और वाइफ” की तरह रहते है.. सोसाइटी में नीचे स्विम्मिंग पूल, जिम, सोना और जक़ुज़ी सब कुछ है. हम दोनों रोज़ सुबह जिम में जाते है और वो, स्पोर्ट्स ब्रा और शॉर्ट पहन के जिम करती है. उधर, जो भी जेंट्स रहते

है उनका खड़ा हो जाता है और वो रोज़ सुबह मेरी गर्ल फ्रेंड का ही इंतीज़ार करते है की कब वो आए और शायद, मैं ना आऊं और उनको मेरी मंगेतर को किसी तरह चोदने का मौका मिल जाए पर ऐसा आज तक नहीं हुआ है. जब भी, हम दोनों जाते है तो

साथ में ही जाते है. मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !! अब आता हूँ, स्टोरी पर… सो, एक दिन मेरे एक फ्रेंड ने मुझसे कहा की यार, तू और तेरी गर्ल फ्रेंड तो दोनों साथ में ही रहते हो… तुम दोनों, कितने लकी

हो… मैं – यार, ऐसा कुछ नहीं है तू भी तो वैसे रह सकता है… और वैसे भी वो मेरी मंगेतर है… शुभम – अरे यार, तुझे तो पता है की मुंबई में एक अच्छा और सस्ता फ्लैट मिलना कितना मुश्किल है और तेरा क्या है, तेरी फैमिली इनकम

अच्छी है पर मेरी इतनी अच्छी नहीं है… मैं – यार, ऐसा कुछ नहीं है… कोशिश कर, तुझे भी मिल जाएगा ऐसा फ्लैट… शुभम – भाई !! अगर मैं और मेरी गर्ल फ्रेंड अगर तेरे फ्लैट पे रहने आ जाए तो तुझे कोई परेशानी होगी क्या… वैसे भी

तू, एक “2 बी एच के” में रहता है और तेरे लिए तो एक ही रूम काफ़ी है, एंजाय करने के लिए… अगर तू बोले तो मैं भी तेरे फ्लैट में शिफ्ट हो जाता हूँ… तुझे भी हेल्प मिल जाएगी, रेंट में… मैं – मुश्किल है, यार… मुझे शिवानी से

पूछना पड़ेगा इस के लिए और वो राज़ी नहीं होगी और अगर हो भी गई तो क्या, तेरी गर्ल फ्रेंड “हाँ” बोलेगी क्योंकि मैं और मेरी गर्ल फ्रेंड, एक दम ओपन रहते है, घर पे और अगर कभी तेरी गर्ल फ्रेंड को ये पसंद ना आया तो वो क्या

सोचेगी की मेरी गर्ल फ्रेंड, तुझे सिड्यूस करना चाहती है या मैं तेरी गर्ल फ्रेंड को अपनी बॉडी दिख के उसे सिड्यूस करने का सोच रहा हूँ… मैं कहना चाहता हूँ, हमारी “प्राइवसी” ख़तम हो जाएगी… शुभम – अरे, नहीं यार… तुझे

पता नहीं है, मेरी गर्ल फ्रेंड के बारे में उसे भी ऐसा ही खुलापन पसंद है… ओपन रहने में, उसे कोई परेशानी नहीं… जब हम दोनों लास्ट हॉलिडे पे गोआ गये थे तो वो वहां बस छोटे कपड़ो में ही घूम रही थी, बीच पे… बिकिनी में और बाकी

टाइम बिकिनी टॉप और शॉर्ट में… वो तो कहती है, उसे “न्यूड” रहना पसंद है पर वैसा तो हो नहीं सकता इसलिए वो, थोड़े से कपड़े पहन लेती है… मैं – ठीक है, भाई… सो, मैं शिवानी से रात को बात करके तुझे कल इनफॉर्म कर दूँगा… और हम

दोनों, अपने अपने घर चले गये.. उस वक़्त शाम के 6 बज रहे थे, मुझे शिवानी को लेने जाना था. मैं उसे लेने गया, उसकी क्लास 7 बजे ख़तम होती थी तो मैंने उसे कार में पिक किया और हम फ्लैट पे 8 बजे के करीब पहुँच गये और रास्ते में ही

खाना ले लिया और हम दोनों बिल्डिंग पे पहुँच गये और ऊपर फ्लैट पे गये. दोनों ने चेंज किया और डेली की तरह, वो शार्ट नाइटी में आई और मैं बॉक्सर्स और स्लीव लेस टी शर्ट में हम दोनों ने खाना खाया साथ में और फिर, टीवी देखने

लगे. उस वक़्त, 10 बज रहे थे और हम दोनों बातें कर रहे थे. हम दोनों रोज़ 10:30 को “वीडियो सेक्स” करते है, अजनबियों के साथ. मैं लैपटॉप चालू कर देता हूँ और उसे टेबल पे रख देता हूँ और उधर, अजनबियों के साथ में सेक्स करती

है. हमने वो डेली की तरह किया और उस वक़्त, 12 बज गये थे. हम दोनों, सोने के लिए रूम में गये तो मैंने उसे वो बात कही जो की आज मेरे और शुभम के बीच में हुई थी.. शुभम की गर्ल फ्रेंड का नाम शनाया है पर मैं “शानू” लिखूंगा. तो

मुझे शिवानी ने बताया की शानू और उसने “लेज़्बीयन” किया हुआ है और वो मेरी बात सुन के, बहुत खुश हुई.. वो दोनों, एक ही फैशन इन्स्टिट्यूट में है और दोनों क्लास मेट्स है और शिवानी रेडी हो गई, फ्लैट शेर करने के लिए और उसने

मुझसे ये भी कहा की उसका फिगर, बहुत अच्छा है और उसने उसको ये भी बताया की हम दोनों रोज़ सेक्स करते है और घर में नंगे रहते है… शानू की भी बहुत इच्छा थी की उसे भी एक ऐसा फ्लैट मिले, शुभम के साथ रहने के लिए… मैंने उसी

वक़्त शुभम को फोन किया और उसे बता दिया की वो मेरे फ्लैट में परसो से शिफ्ट हो सकता है, शानू के साथ और तब तक शिवानी ने शानू को फोन किया और सब कुछ बता दिया और शानू को भी बहुत ख़ुसी हुई, ये सुन के और दो दिन बाद, वो दोनों

हमारे फ्लैट में शिफ्ट हो गये. और फिर धीरे धीरे, 1 महीने में हम चारो फ्री हो गये.. घर में हम दोनों, “बॉक्सर्स” में रहने लगे और लड़किया “शार्ट नाइटी और थोंग” में और कभी “बिकिनी” और कभी “थोंग और ब्रा” में रहने लगी और

कैसे, मैंने शनाया को चोदा और शुभम ने शिवानी को चोदा.. कैसे हम लोग, थाई लैंड गये और वहां हमने, कैसे एंजाय किया बीच पे और वहां भी हम दोनों कैसे वहां की लोकल्स लड़कियो को चोदा और कैसे, कुछ फॉरिनर्स को चोदा.. ये सब, मैं

आपको, मेरी अगली स्टोरी में बताऊंगा तब तक क लिए, विदा.. Agar Aapke Pass Aisi Hi Sex Stories Hindi Me Ho Ya Desi Me To Likh Bhejiye sexvasnawap@gmail.com Par..

Give Ur Reviews Here