Home
Category
Tips Hinglish Story
English Story
Contact Us

बंगलन की जोरदार चुदाई


दोस्तों ये कहानी आप सेक्सवासना डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

दोस्तो आज जो भाभी की चुदाई की स्टोरी बतने जा रहा हू वो मौमीता भाभी की चुदाई की है.. आज मैं बतऊन्गा कैसे भाभी को चोदा अकेली घर मे, कैसे भाभी की रसीली चुत को चाहता, कैसे भाभी की बूब्स को चूसा, कैसे भाभी को घोड़ी बना कर

चोदा, कैसे भाभी की गांड मे उंगली घुसा कर चुत मारी, कैसे भाभी को चोद चोद के प्रेग्नेंट बना दिया, कैसे रात दिन सिर्फ़ भाभी की चुदाई की, डिसेंबर मंत मे मौमीता भाभी के पती कुछ दीनो के लिए देल्ही जा रहे थे, तभी उन्होनेपने

मामा की लड़की अनिता को अपने पास रहने के लिए बुलाया, जिस दिन मौमीता भाभी के पती गये उसके दूसरे दिन हे अनिता मौमीता भाभी के घर आ गये थी, उसके नेक्स्ट दे जब मैं पीयूष को पड़ने के लिए गया तो दरवाज़ा अनिता ने ही खोला,

भाभी ने पहले ही उसे बताया दिया था की राजीव पीयूष को पड़ने आता है, अनिता मुझे अंदर के रूम मे ले गये ओर बोले आप बैठया पीयूष अभी सो रहा है मैं उसे जगा कर लेट हूँ, भाभी की चुदाई भाभी को चोदा जी भर के तब मैने कहा ठीक है ओर

फिर मैने पूछा की मौमीता भाभी कहा है तो अनिता ने कहा की वो बाथरूम मे है.थोड़ी देर बाद पीयूष आ गया ओर मैं उसे पड़ने लगा, उस दिन भाभी से कोई बात नही हो पाए, मैने बहुत बेचैने हो उठा की अब क्या कारू. नेक्स्ट दे अनिता सुबह 9.30

मेरे पास आए ओर कहा की दीदी ने आपको घर पर बुलाया है तो मैने कहा ठीक है ओर मैं उनके घर चला गया तो भाभी ने कहा की आज पीयूष को तुम स्कूल चोद दो जब तक वो (उनके हज़्बंद) नही आते है तब तक तुम पीयूष को स्कूल चोद दिया करूगे, मैने

कहा ठीक है, फिर मैं पीयूष को स्कूल चोदने जाने लगा तो उन्होने कहा की दिन मे आना तुमसे कुछ काम है, मैने कहा ठीक है ओर मैं पीयूष को स्कूल चोदने चला गया. करीब 12 बजे मैने देखा की अनिता अपने बालकनी मे खड़ी है, उसे देखकर तो

मेरे पूरे शरीर मे जैसे चुदाई के लहर सी दौड़ गये ओर मैने बिना कुछ सोचे समझे मौमीता भाभी के घर जाने लगा, अनिता ने अपने तेराफ आतेर देखकर वो दरवाज़ा खोलने आ गये, ओर वो जब दरवाज़ा खोल कर मेरे सामने खड़ी थी तो भाभी की मस्त

चुचि की उभर देखकर मेरे लंड मानो 160 के एंगल मे खड़ा हो गया फिर मैने किसी तेरह से पूछा की भाभी नही है क्या तो वो बोले की अंदर है आप आए, ओर मैं घर के अंदर चला गया, ओर जिस रूम मे मौमीता भाभी बैठे थी उसे रूम मे गया तो भाभी ने

आओ राज, कब से तुम्हारा इंतज़ार कर रहे थी आने मे बहुत देर कर दे. ओर मैं उनके पास बगल मे जा कर बैठ गया, तभी आप ये कहानी चुदसीहौुसेवीफे.नेट पार पाद रहे है. मौमीता भाभी ने अनिता से कहा की अनिता जाओ राजीव के लिए चाय बना लाओ

ओर अनिता चाय बनाना चले गये, अनिता जैसे ही वाहा से गये मैने भाभी को अपने तेराफ खीच कर उनके चेहरे को अपने हाथो मे लेकर उनको होंठों पर किस करने लगा तो बोले को बहुत बेचैने हो रहे हो राजीव, इतनी जल्दी भी क्या है, अभी तो

पूरा दिन ओर पूरे रात बाकी है ओर तुम्हारे भैय तो देल्ही गये है, इसलिए आराम से कोई जल्दी नही है, ओर फिर मैं भाभी को उल्टा करके अपने बहूमे लेकर उनके चुचियो को हल्के हल्के दबाने लगा ओर उनसे पूछा की क्या अनिता को पता है

तो कहने लगे की हां ओर उसे मैने सब कुछ बता दिया है, ओर वो तैयार भी हो गये है, ये सुनते ही मेरे जिस्म मे जैसे एक अज्जेब से खुशी के लहर से दौड़ गये ओर मैने भाभी की चुचियाँ को दबाते हुए उनके होंठों को चूसने लगा की तभी वाहा

अनिता आ गये ओर वो हमारे सामने बैठकर मुझे चाय देकर खुद भी च्चाईए पीने लगे, तभी भाभी बोले की राजीव तुम्हे पता है अनिता ने जब तुम्हे पहले बार ही देखा था एसने मुझसे कहा था की दीदी अगर राजीव से मेरे रीलेशन बन जाए तो

कितना अच्छा होगा, ये सुनते ही अनिता ने अपना सर झुका लिया तभी मौमीता भाभी उसके पास गये ओर उसके सर को उप्पर उठकर उसे गालो पर किस करके बोले एज़्म शरमाने की क्या बात है अब तो राजीव से तुम्हारे रीलेशन होने जा रहे है, उस

पर भी अनिता ने कुछ नही बोला तो भाभी उठकर मेरे पास आए ओर कही जैसे चुदाई तुमने मेरे की थी आज वैसे ही अनिता की करने है तो मैने कहा की क्या सिर्फ़ अनिता की ही क्या आज आप मुझसे नही चुद़वावगे, उन्होने घूर कर मेरे तेराफ

देखा पर बोले कुछ नही. .आप ये कहानी चुदसीहौुसेवीफे.नेट पार पाद रहे है. उसके बाद अनिता वाहा से चाय के कप उठाकर वाहा से अंदर चले गये, ओर मैने तुरंत भाभी को अपने बहूमे लेकर उनके होंठों की किस करने लगा ओर अपने हाथ उँख

चुचियो पर चलता रहा ओर धीरे धीरे चुचिया दबाता रहा, भाभी के लिप्स बहुत रसेली थी. मैं उसे बड़े चवा से चूस रहा था, फिर मैने धीरे से भाभी के ब्लाउस के बूत्टोने खोल दिया ओर ब्लाउस को एक ही झटके मे उनके शरीर से अल्लग कर

दिया अब भाभी की गोरी गोरे छिचिया मेरे हाथो मे थी ओर मैं उनसे खेल रहा था, उसके बाद मैने अपने होंठों को उनके च्चियो के निप्पल पर रखकर उन्हे हल्के हल्के चूसने लगा, भाभी भी जोश मे आने लगे थी, ओर वो मेरे सर को पकड़ कर अपने

चुचियो पर दबाते हुए बोल रहे थी राजीव ओर ज़ोर से चूसो ओर ज़ोर से आआआआहह हह बहुत अच्छा लग रहा है चूस्ते रहो पूरा चूस लो आज एन्कोाााआआआआअहह हह सच मे राजीव तुम बहुत अच्छा चुस्तो हो, तभी वाहा अनिता आ गये जब उसने हम

लोगों के ऐसे देखा तो वो शर्मा कर वाहा से जाने लगे तो भाभी ने कहा की अनिता यहा आओ तो अनिता भी वाहा आ गये, तब मैने भाभी की चुचिया चूस रहा था ओर मेरा हाथ भाभी की जांगो पर चल रहा था, तभी मैने देखा की भाभी अनिता से कुछ इसरो

मे कह रहे है ओर अनिता उन्हे बहुत ध्यान से देख रहे है उसके बाद अच्चानक भाभी ने मेरे सर को उप्पर उठकर मेरे होंठों को चूसने लगे ओर मेरे शर्ट को पूरे तेरह से खोल दिया, तभी मैने माशूस किया की अनिता की हाथ मेरे पीठ पर

हल्के हल्के चल रहा है मैने कुछ रेकात नही किया ओर भाभी के होंठों को चूस्ता ही रहा, फिर पीछे से ही अनिता ने मेरे जीन्स के चैन ओर बतन खोल कर जीन्स को मुझसे अलाग करने की कोशिश करने लगे, तब मैने थोड़ा सा पीछे हटकर अपने

जीन्स खोल दे फिर उसके बाद अनिता मेरे लंड को हल्के हल्के हिलने लगे उसको एसे तेरह से करते देखकर मुझे भी बहुत मज़ा आने लगा, तभी मौमीता मेरे सामने से हटकर अनिते के पास गये ओर उसके चुचियो पर हाथ फिरने लगे फिर मैने

अनिता को उप्पर उठकर उसके गुलाबी होंठों पर जैसे ही मैने अपने होंठों को रखा मैने अंदर एक करेंट से दौड़ गये, सच मे मैने इतना रसीली होंठों को कभी नही चूसा था ओर फिर मैं ज़ोर ज़ोर से अनिता की होंठों को चूसने लगा ओर

उधेर भाभी अनिता के कपड़े को उसके शरीर से अलाग करने लगे, धीरे धीरे उन्होने उसके सारे कपड़े अलाग कर दिए ओर फिर उन्होने अपने भी बाकी के कपड़े उतार दिए ओर बोले की अब अंदर के रूम मे चलो ओर मैने अनिता को होंठों को चुस्त

हुए ही उसके कमर मे हाथ डालकर उसे उठकर अंदर ले गया पर बेड पर लेता दिया आप ये कहानी चुदसीहौुसेवीफे.नेट पार पाद रहे है. फिर भाभी उसके कमर के पास आकर बैठ गये ओर मैं उसके होंठों को चूस्ता ही रहा तभी मुझे लगा की अगर इसकी

होंठों मे इतना मज़ा है तो इसकी चुचिया ओर चुत कैसे होगे ओर मेरे दिल मे उसे भी चूसने के इछा होने लगे ओर फिर मैं थोड़ा सा नीचे होकर अनिता को चुचियो को चूसने लगा ओर भाभी अनिता की चुत पर हाथ फेयर रहे थी ओर फिर भाभी ने

अनिता की चुत पर अपना मूह रखकर उसे चूसने लगे ओर अनिता आआआआआआआअहह हह हववववव वववओूऊऊऊ तभी मैने अनिता के होंठों को ज़ोर से चूसने लगा ओर उधर भाभी भी ज़ोर ज़ोर से अनिता की चुत को चूस रहे थी ओर धीरे धीरे

ववववववववउउुुुउऊहह हह हह्ा एयाया ठीक से उसके गले से अव्वाज़ नही निकल पा रहे थी क्योंकि उसके होंठों को मेरे होंठों ने. फिर अच्चानक अनिता अपने कमर को उप्पर उठकर भाभी को चूसने मे हेल्प करने लगे ओर वो ज़ोर ज़ोर से कमर

को उप्पर उठा रहे थी ओर भाभी भी बड़े मज़े से उसके चुत को चूस रहे थी ओर फिर अनिता की कमर ऊप्पर उतना के बढ़ता बाद गये ओर थोड़े ही देर मे अनिता झाड़ गये उसके चुत से निकालने वाले रस को मौमीता ने बहुत मज़े से चूस लिए ओर फिर

उसके चुत को चातने लगे. अब तक मेरे लंड भी बहुत टाइट हो गया था, तभी मौमीता ने कहा की अरे राजीव का लंड तो खड़ा हो गया है उसके तेराफ तो मैने ध्यान ही नही दिया तभी अनिता जल्दी से उल्टा होकर मेरे उप्पर झुक कर मेरे लंड को

चूसने लगे, वो बहुत अच्छे तेरह से मेरे लंड को चूस रहे थी तब मैने भाभी से कहा के मुझजे आपके चुत चूसने है आप मेरे पास आओ ओर वो मेरे पास आकर अपने कमर को मेरे मूह पर करके बैठ गये ओर मैं भाभी की चुत को चूसने लगा, सच मे भाभी की

चुत मे वही टेस्ट था जो मैने पहले बार मे माशूष किया था ओर मैने भाभी की चुत को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा तभी मैने माशूस किया के अनिता मेरे लंड को बहुत बढ़ता से अपने मूह मे अंदर बाहर कर रहे है ओर फिर मैं भाभी को अपने उप्पर

से हटाकर अनिता के मूह को ही ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा अब मेरे पूरा लंड अनिता के मूह मे था ओर वो हूऊऊऊऊओ ग्ग्गह हीईईईईईई ईईई की आवाज़ निकाल रहे थी तभी मुझे लगा की मैं झड़ने वाला हूँ तो मैने आप ये कहानी

चुदसीहौुसेवीफे.नेट पार पाद रहे है. मौमीता से कहा की मैं झड़ने वाला हू तो उन्होने कहा की अनिता के मूह मे ही सब निकाल दो ओर फिर मैं ज़ोर ज़ोर से अनिता के मूह को चोदने लगा ओर चोदते चोदते मैं झाड़ गया ओर अनिता का मूह

मेरे वीर्या से बाहर गया ओर वो उसे मज़े से अंदर लेकर कहा गये ओर मेरे लंड को अपने जीबह से सॉफ करने लगे, ओर उसने मेरे पूरे लंड को अपने जीबह से सॉफ कर दिया. फिर मैं अपने बगल . लेते मौमीता भाभी की चुत पर अपने होंठों को रखकर

भाभी की रस भारी चुत को चूसने लगा ओर अनिता बाथरूम मे जाकर अपना मूह ओर चुत धोकर आ गये ओर बोड दीदी राजीव का लंड चूसने मे मुझे बहुत मज़ा आ रहा था तो मौमीता ने कहा की राजीव के लंड को चूसने का पूरा मज़ा तो आज तुमने ही लिया

है, आज तो मैने राजीव के लंड को चूसा भी नही है, मैं उधर भाभी की चुत चूसने मे मस्त था, मुझे चुत को चूसने मे बहुत मज़ा आता है इसलिए मैं बड़े मज़े से चुत को चूस रहा था ओर अनिता मौमीता के होंठों के पास फूचकर उनकी चुचियो को

चूसने लगे एक तेराफ मैं मौमीता के चुत चूस रहा था ओर दूसरे तेराफ अनिता मौमीता की छिचिया ओर मौमीता मैईजे से हल्के हल्के अव्वाज़ का रहे थी आआआआआआआआआअ आआआआआआआहह हह हह चुस्त रहो ओर ज़ोर से चूसो मेरे राजा ओर ज़ोर से

उूुुुुुुुुुुुुुुुउउ उउफफफफफफफफफफफफफ्फ़ फ आआआअहह पूरा रस चूस लो ओर ज़ोर से ओर ज़ोर से आआआआआआ हहाआआआव उूुुुुुुुुुुुउउ ओर फिर थोड़े ही देर मे मौमीता भाभी झड़ने की स्टेज मे आ गये ओर उन्होने मेरे मूह को ज़ोर से

अपने चुत पर दबा कर ढके मारएनए लगे ओर चिल्ला रहे थी ओर ज़ोर से ओर जोसर से आआआआआ करते रहो आआआआहह फास्ट ओर फास्ट करते रहो आआआआआआआआअहह हह हह हह ओर वो झाडे गये जब वो झाड़ रहे थी तो उनके चेहरे पर एक अजीब से खुशी थी, मैने

भाभी की चुत का सारा रस बड़े मज़े से चूस लिया ओर फिर वो मुझसे अलाग होकर एक तेराफ थोड़ी देर लेते रहे ओर मैं उनके बगल मे लेट गया ओर अनिता मेरे सीने पर हाथ रखकर लेते हुए थी ओर मेरे लंड को हिला रहे थी अनिता मेरे लंड को

कुछ एसे तेरह से हिला रहे थी की मेरे लंड देखते ही देखते खड़ा हो गया तभी अनिता ने बड़े प्यार से मुझसे से कहा की आपने दीदी के चुत तो चूस ले लेकिन आपने मेरे चुत नही चूसे क्या मेरे चुत अच्छी नही है ये सुनते ही उठा ओर

सिद्धे उसके पैरो के पास गया ओर उसके दोनो पैरो को फैला कर उसके चुत मे अपना मूह लगा दिया आप ये कहानी चुदसीहौुसेवीफे.नेट पार पाद रहे है. सच मे उसके चुत बहुत ही गरम थी ओर उसके चुत से आने वाले खुश्बू मुझे बहुत अच्छे लग

रहे थी ओर मैं ज़ोर ज़ोर से अनिता की चुत को चूसने लगा जैसे की मैने बहुत दीनो से कोई चुत चूसे ही ना हो. ओर अनिता मेरे मूह को अपने चुत पर ज़ोर से दबा कर हल्के हल्के ढके मराते हुए बोल रहे थी राजीव हाआआआआआआआआ आआआआअ

यययययययईईईईई ीईसस्स्स्स्स्स्स्स्सस्स ओर ज़ोर से चूसो यययययययययययी ययइईईईईई ईईईसस्स्स्स्स्स्सस्स ओर ज़ोर से चूसो मेरे राजीव मेरे चुत तुम्हारी लिए कब से प्यासी थी ओर ज़ोर से उऊहहााअ आआआआआआआआअहह हह हह चूस

लो मेरे चुत को आजेसमे कुछ भी मत चोदा अनिता की चुत की चूसने का मज़ा ऐसे था की कब मौमीता आकर मेरे लंड को चूसने लगे मुझे पता ही नही चला, ओर मैं अनिता के चुत को ज़ोर से चूस रहा था तभी अनिता बोले थोड़ा से जीबह चुत को अंदर

डालकर चूसो मेरे राजीव चूस लो आआज्जजज्ज्ज्ज्ज आआआआआआआआआअ आहह हह हे चूस लो ओर मैने अपने जीबह अनिता की चुत मे डाल कर उसके चुत को अपने जीबह से चोदने लगा था तभी मैने माशूस किया की मेरे लंड पूरे तेरह से टाइट हो चुका है

मौमीता भाभी कुछ एसे तेरह से चूस रहे थी की मेरे लंड बहुत ही जल्द चुदाई के लिए तैयार हो चुका था, मैं अपने जीबह से अनिता की चुत को चोदा जा रहा था ओर अनिता मस्ती मे आआआआआआआआहह हह पूरे चूस लो मेरे चुत को आज. आप ये कहानी

चुदसीहौुसेवीफे.नेट पार पाद रहे है. उसके चुत से रस निकालने लगा था ओर मैं उस रस को बड़े मज़े से चूस रहा था तब मैने कहा की अनिता अब मुझे मत तड़पो अब मुझे अपने चुत चोदने दो, तो अनिता बोले चोदा ना राजीव किसने रोका है

तुम्हे, मेरे चुत को तो कब से तुम्हारे लंड का इंताज़ार है ओर ये सुनते ही मैने अपना लंड भाभी के मूह से निकालकर अनिता के दोनो पैरो को ऊप्पर उठकर उसके चुत के छेद पर अपना लंड रखा दिया उसके चुत के गारमे से मेरे लंड ओर भी

जायद टाइट हो चुका था ओर जल्दी से अनिता के चुत को चोदने की लिए बेचैने था मेरा लंड, तभी अनिता बोले जल्दी से चोदा मेरे राजीव अब ओर नही रहा जाता है, जालीद से चोदा मुझे ये सुनते ही मेरे जोश आ गया ओर मैने फिर एक झटका तेजे से

मारा मेरे 3/4 लंड अनिता की चुत मे एक ही झटके मे घुस गया ओर अनिता ज़ोर से आआआआआआआआ हह दर्द हो रहा है राजीव अब निकाल लो प्लीज़ तब मैं अपना लंड उसके चुत से निकाल लिए ओर फिर मैं उसके चुत को अपने जीबह से चूसने लगा. जब अनिता

मस्ती मे आ गये तभी फिर से मैने अपना लंड अनिता के चुत के छेद पर रखकर ज़ोर से एक झटका मारा ओर फिर मेरे 3/4 लंड उसके चुत मे घुस गया ओर वो चिल्ला उठे तभी मौमीता भाभी उसके चेहरे के पास जा कर उसके होंठों को अपने होंठों से

काश कर किस करने लगे ओर उसके दर्द की चीख उसके मूह मे ही रहा गये ओर तभी मौमीता भाभी ने मेरे तेराफ इसारा किया ओर मैने पूरे ज़ोर से फिर एक झटका मारा एसे बारा मेरएआ पूरा लंड अनिता की चुत मे घुस गया ओर अनिता ना च्चटे हुए

भी हल्के से चिल्ला उठे दीदी नही आआआआआआआः हह अब नही दीदी मुझे चोद दो बहुत दर्द हो रहा है लेकिन तब तक भाभी ने फिर से उसके होंठों को अपने होंठों से बंद कर दिया ओर मेरे तेराफ इसारा किया ओर मैं फिर ज़ोर ज़ोर से अनपे लंड

को अनिता की चुत मे अंदर बाहर करने लगा धीरे धीरे अनिता का दर्द ख़त्म हो गया ओर वो मस्ती मे आकर बड़बड़ाने लगे करे रहो मेरे राजीव ईईईईईईईईईईईईईईईयाहह आज मेरे चुत को फाड़ दो अपने लंड से आज मेरे चुत को प्यास बुझा दो

मेरे राजीव आआआआआआआआआः हह ओर ज़ोर से चोदा मुझे राजीव ओर ज़ोर से ये सुनते ही मेरे ओर ज़यादा जोश आ जा रहा था ओर मैं पूरे जोश के साथ अनिता के चुत मे अपना लंड अंदर बाहर कर रहा था ओर फिर अनिता भी अपना कमर उठा उठा कर मेरा

साथ देने लगे तभी आप ये कहानी चुदसीहौुसेवीफे.नेट पार पाद रहे है. मौमीता भाभी ने कहा की क्यो अनिता अभी तो तुम्हे बहुत दर्द हो रहा था अब क्या हुआ, अब तो मेरे मज़े से कह रहे हो मेरे राजीव मेरे चुत
sarkari jobs
Notice For Our Readers

दोस्तो डाउनलोड क्र्रे हमारा अफीशियल आंड्राय्ड अप (App) ओर अनद लीजिए सेक्स वासना कहानियो का . हमारी अप(App) क्म डेटा खाती है और जल्दी लोड होती है 2जी नेट मे वी ..अप(App) को आप अपने फोन मे ओपन रख सकते है

अप(App) का डिज़ाइन आपकी प्राइवसी देखते हुए ब्नाई गयइ है.. अप(App) का अपना खुद का पासवर्ड लॉक है जिसे आप अपने हिसाब से सेट कर सकते ह .जिसे दूसरा कोई ओर अप(App) न्ही ओपन क्र सकता है और ह्र्मारी अप(App) का नाम sxv शो होगा आफ्टर इनस्टॉल आपकी गॅलरी मे .

तो डाउनलोड करे Aur अपना पासवर्ड सेट क्रे aur एंजाय क्रे हॉट सेक्स कहानियो का ...
डाउनलोड करने क लिए यहा क्लिक क्रे --->> Download Now Sexvasna App

हमारी अप कोई व किसी भी तारह के नोटिफिकेशन आपके स्क्रीन पर सेंड न्ही करती .तो बिना सोचे डाउनलोड kre और अपने दोस्तो मे भी शायर करे

   Please For Vote This Story
0