Home
Category
Sex Tips
Hinglish Story
English Story
Contact Us

मेरी उलझन


दोस्तों ये कहानी आप सेक्सवासना डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

हेलो मेरा नाम रीना ( बदला हुआ ) है . में एक खुशहाल शादीशुदा छत्तीस साल की महिला हूँ और एक घरेलु महिला हूँ , में दिखने में सिंपल हूँ कोई ज्यादा ख़ास नहीं हूँ मेरा रंग भी सांवला है हालाँकि मेरे फीचर्स और फिगर ठीक है थोड़ी

मोटी हूँ लेकिन औरतों में थोड़ा मोटापा अच्छा ही दिखता है. मेरे दो बच्चे है एक बेटा जो आठ साल का है और एक बेटी है चार साल की. मेरे पति प्राइवेट नौकरी में है वो मेडिकल लाइन में एम .आर. है और उनकी सैलरी भी अच्छी है मतलब हम

पैसे से भी अच्छे है. मेरे पति मुझसे चार साल बड़े है उनकी उम्र चालीस साल है . यह मेरी पहली कहानी है और मेरे साथ कुछ ऐसा हुआ की मुझे लगा की आप सबसे मुझे यह कहानी शेयर करनी चाहिए. खासकर मेरे जैसी उन शादीशुदा औरतों से जो

यह कहानिया पढने में इंट्रेस्ट रखती है. क्योकि इस समय में बहुत बड़ी परेशानी में से गुजर रही हूँ और मुझे आपकी सलाह की जरूरत है शायद आपकी सलाह मेरी परेशानी ख़त्म कर दे. इसलिए में अपनी जिंदगी की यह सीक्रेट कहानी लिख रही

हूँ ! यह मेरी बिलकुल सच्ची कहानी है इसमें कुछ भी झूठ नहीं है सिर्फ मेरा नाम बदला है बाकी जगह से लेकर हर चीज मेरी जिंदगी की सच्ची घटना है. कृपया जो भी महिलाये, लड़कियां यह कहानी पढ़ रही है मुझे एक अच्छी सलाह जरूर मेल

करे मेरा मेल आईडी है ! कृपया सिर्फ महिलाये और लडकिया ही मुझे अपनी सलाह मेल करे कोई पुरुष मुझे अपने विचार मेल न करे क्योकि एक औरत को सिर्फ एक औरत ही समझ सकती है ! यह बात आज से 1 साल पहले की है. क्योकि मेरे पति की

प्राइवेट नौकरी है तो उनका ट्रांसफर चंडीगढ़ से कोटा (राजस्थान) में हुआ और में भी उनके साथ रहने के लिए कोटा आ गयी. कोटा एक अच्छा शहर है और हमने एक घर स्टेशन साइड की तरफ किराये से ले लिया. मेरे पति सुबह दस बजे अपनी नौकरी

पे चले जाते थे और रात में देर से ही आते क्योकि पूरे जिले का काम उनके ऊपर था और हफ्ते में दो दिन उनका कोटा के बाहर टूर रहता था. तो दो दिन में अकेली ही रहती थी क्योकि कोटा में हमारा कोई रिश्तेदार भी नहीं था. मेरी लाइफ

नार्मल रूटीन में चल रही थी सुबह बच्चो को तैयार करना और स्कूल भेजना और खुद को दिन भर घर के कामो में व्यस्त रखना.हालांकि शादी के पहले मेरा एक बॉयफ्रेंड था लेकिन मैंने कभी उसके साथ सेक्स नहीं किया था सिर्फ किसिंग तक

ही थे. और शादी के बाद मेरा कभी कोई अफेयर नहीं रहा. मेरे पति मोटे है और हमारी सेक्स लाइफ एवरेज है. हम हफ्ते में मुश्किल से एक बार ही सेक्स करते है लेकिन वो जल्दी थक जाते है इसलिए मैंने भी अपना इंट्रेस्ट सेक्स में कम

कर दिया. तो कोटा आने के एक महीने बाद में स्टेशन के मार्केट में साड़ी लेने एक शोरूम में गयी. वहां में साड़ी पसंद कर रही थी लेकिन एक और कपल भी वह साड़ी ले रहा था ऐसा लगा जैसे उनकी शादी को ज्यादा टाइम नहीं हुआ है. उस कपल में

जो पति था उसकी उम्र अट्ठाहिस या उन्तीस साल की होगी और वो दिखने में स्मार्ट था. हालांकि उसकी वाइफ मेरी तरह साधारण ही थी में अपनी बेटी के साथ थी.मैंने नोटिस किया वो 29 साल का लड़का जो लड़की का हसबैंड था बार बार मुझे देख

रहा था. मुझे भी उसे देखने की इच्छा बार बार हो रही थी लेकिन में इग्नोर कर रही थी. उस लड़के को उसकी वाइफ रोहित (बदला हुआ) कहकर बुला रही थी तो मुझे पता लग गया उस लड़के का नाम रोहित है. थोड़ी देर बाद मुझे साड़ी पसंद आ गयी और

मैंने साड़ी ले ली. लेकिन दुकानदार ने मुझे कहा आप कल आकर यह साड़ी ले जाना क्योकि फॉल और ब्लाउज सिलने वाला वही था. तो में घर आ गयी और आते आते भी वो रोहित मुझे देख रहा था. अगले दिन में शाम को सात बजे बजे अपनी साड़ी लेने वह

पहुंची और वह वो लड़का रोहित भी खड़ा था. वो भी कल वाली साड़ी लेने आया था लेकिन आज उसकी वाइफ उसके साथ नहीं थी. उसने मेरी तरफ देख के हल्का सा स्माइल दिया मैंने इग्नोर किया लेकिन मुझे भी बार बार उसे देखने का दिल तो कर रहा था

तभी अचानक मुझे मेरा मोबाइल मेरे पास नहीं दिखा और में अपना मोबाइल ढूढ़ने लगी. शायद वो कही आसपास गिर गया था. इतने में रोहित आया और बोला की आपका कुछ खो गया जो आप इधर उधर देख रहे हो. मैंने कहा मेरा मोबाइल खो गया. तो वो बोला

नंबर दीजिये में डायल करता हूँ अभी यही होगा तो मिल जायेगा. मैंने अपना नंबर दिया और रोहित ने अपने मोबाइल से नंबर डायल किया तो रिंग बजी. मोबाइल थोड़ा दूर साइड में गिरा पड़ा था मैंने मोबाइल उठाया और इतने में मेरी साड़ी

मिल गयी तो में चली गयी. लेकिन रात को नो बजे एक अनजान नंबर से फोन आया मैंने उठाया तो उधर से आवाज आई हेलो में रोहित बोल रहा हूँ. मैंने कहा कौन रोहित तो उसने कहा हम शाम को साड़ी की दुकान में मिले थे मैंने आपका मोबाइल

ढूढ़ने में हेल्प की थी मैंने कहा ठीक है. उसने मेरा नंबर अपने फोन से डायल किया था इसलिए उसके पास मेरा नंबर पहुंच गया था. रोहित ने कहा आपने मुझे थैंक्स भी नहीं कहा और चले गए.मैंने कहा सॉरी और थैंक्स आपको आपने मेरी

हेल्प की. पता नहीं लेकिन मुझे भी उस से बात करने में अच्छा लग रहा था. फिर मैंने पूछा आप क्या करते है तो उसने बताया उसका बिज़नेस है और मैरिड है.उसने कहा एक बात कहू, आप मुझे बहुत अच्छे लगे क्या हम फ्रेंड्स बन सकते है.

मैंने कहा लेकिन में शादीशुदा हूँ तो उसने कहा तो क्या हुआ में भी तो शादीशुदा हूँ. ऐसे हमारी बातें दिन ब दिन ज्यादा होने लगी. में कभी सोचती थी की मुझे रोहित से बात नहीं करनी चाहिए लेकिन में अपने आप को रोक नहीं पाती थी

और मुझे भी बहुत अच्छा लगने लगा! धीरे धीरे हमारी बातें सेक्स के टॉपिक पे भी होने लगी और जब भी रोहित सेक्स की बातें करता मुझे बहुत अच्छा महसूस होता.मेरे दिल की धड़कन बढ़ जाती और साँसे तेज हो जाती. अब मेरी दिलचस्पी

सेक्स में बढ़ने लगी और रोहित मुझे मोबाइल पे पोर्न वीडियो और पोर्न फोटो भेजता जिनसे में और रोमांचित होने लगी! एक दिन मेरे पति टूर पे कोटा से बाहर थे तो रोहित का रात को दस बजे कॉल आया और उसने कहा उसकी वाइफ अपनी मम्मी

के घर गयी हुई है. और मैंने भी कहा आज मेरे पति भी बाहर है तो वो बोला की में आ जाऊ. में चुप हो गयी हालांकि दिल तो मेरा भी कर रहा था.लेकिन में मना करने लगी उसने कहा प्लीज रीना सिर्फ थोड़ी देर बातें करके चला जाऊगा. तो मैंने

कहा ठीक है आ जाओ लेकिन एक घंटे बाद जब तक में बच्चो को सुला देती हूँ और बिल्कुल चुपचाप आना ज्यादा शोर मत करना. हालाँकि मेरा घर सेपरेट था तो किसी को पता नहीं चलता.रोहित के आने की बात सुनकर मेरे दिल की धड़कन तेज हो गयी

और एक अजीब सा डर और रोमांच मासूस होने लगा.मैंने बच्चो को दूसरे रूम में सुला दिया और रोहित चुप चाप एक घंटे बाद मेरे घर पे आ गया. उसने जीन्स और टीशर्ट पहन रखी थी रात के साढ़े ग्यारह बज चुके थे और हम ड्राइंग रूम में ही

बैठे थे. अचानक रोहित बोला रीना तुम्हारा बेडरूम तो दिखाओ. मैंने कहा चलो और में आगे आगे चलने लगी. मैंने गाउन पहन रखा था रोहित मेरे पीछे चल रहा था जैसे ही में बेड रूम में पहुंची रोहित ने मुझे पीछे से पकड़ लिया और मेरी

गर्दन पे किस किया. मैंने कहा क्या कर रहे हो रोहित तो वो बोला अपनी फ्रेंड को प्यार तो. मैंने कहा यह गलत है तो वो बोला तुम मुझे पसंद नहीं करती. में चुप हो गयी और रोहित मुझे जोर जोर से अपनी तरफ खीच रहा था मुझे भी बहुत

अच्छा लग रहा था. फिर रोहित ने मुझे छोड़ दिया और गेट लगा दिया में अभी भी खड़ी थी अब रोहित सामने से आकर मुझसे चिपक गया और में भी रोहित की बाहों में चिपक गयी.मुझे भी बहुत अच्छा लग रहा था रोहित मुझे जोर से किस कर रहा था और

कस के बाहो में पकडे हुए था! मैंने भी रोहित को कस के पकड़ रखा था और उसके होठ चूस रही थी उफ्फ्फ्फ़ … कितने सॉफ्ट होठ थे रोहित के में अपनी जीभ भी रोहित की जीभ से टच कर रही थी! अब रोहित ने मुझे बेड पे लिटा दिया और मुझे किस

करते हुए मेरे बूब्स दबाने लगा मुझे भी इतना अच्छा महसूस हो रहा था ..उफ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़ की रोहित ऐसे ही मेरे बूब्स दबता रहे उसके हाथो में जादू था. फिर रोहित ने अपनी टी शर्ट खोल दी उसका बदन गोरा था और चेस्ट पे

बाल भी नहीं थे बिलकुल क्लीन चेस्ट था.मुझे भी बहुत अच्छा लग रहा था और में रोहित के चेस्ट पे हाथ फिरा रही थी और रोहित की चेस्ट पे बहुत देर तक किस किया! अब रोहित ने मेरे गाउन के बटन खोलना चालू कर दिया मैंने कहा रोहित

ऐसे मत करो प्लीज. वो बोला दोस्ती की है निभानी पड़ेगी और मेरे होठ भी चूसने लगा. मुझे खुद को भी इतना मजा आ रहा था की में चाह रही थी की. रोहित ऐसे ही मुझे प्यार करता रहे. फिर मेरे गाउन के बटन खोल के उसने ब्रा हटा दी और मेरे

बूब्स को बहुत प्यार से चूसने लगा. में तो पागल हो रही थी मेरे पति ने कभी इतने प्यार से मेरे बूब्स नहीं चूसे थे.पता नहीं लेकिन रोहित में क्या बात थी की उसके बूब्स चूसने से में पागल हुई जा रही थी. मेरे निप्पल कड़क हो

चुके थे ..आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह ….. इतने में उसने मेरा पूरा गाउन उतार दिया और में सिर्फ पैंटी में थी वो मेरे पेट को, मेरी कमर को , मेरे कुल्हो को इतने प्यार से अपने दाँतो से काट रहा था की मुझे ऐसा लगा में मर जाऊगी. ऐसा सुख

मुझे पहले कभी नहीं मिला फिर रोहित ने मेरी पैंटी बिना खोले बाहर से ही मेरी चूत को दबाने लगा मेरी तो आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह … निकल गयी. फिर उसने मेरी पैंटी निकाल दी और मेरी चूत को बहुत प्यार से चाटने लगा.

मुझे तो ऐसा मजा पहले कभी नहीं आया रोहित की जीभ में, होठों में एक जादू था और मेरी चूत पूरी गीली हो रही थी. वो अपनी ऊँगली भी बार बार मेरी चूत में डाल रहा था. में सिर्फ आँखें बंद कर के मजा ले रही थी. फिर में उठी और मैंने

रोहित की जीन्स की जिप को दबाया. मेरा भी दिल कर रहा था की अब रोहित ने मुझे पूरी नंगी कर दिया है तो में भी रोहित को अपने हाथो से नंगा करू. मैंने रोहित की जीन्स का बटन खोल दिया और उसने अपनी जीन्स उतार दी उसने जॉकी का

सफ़ेद रंग का वी शेप अंडरवियर पहन रखा था और वो उसमे बहुत हॉट लग रहा था.अब मैंने देखा अंडरवियर ऊँचा हो रहा है रोहिंत का लंड पूरा खड़ा हो गया था और वो बाहर आने के लिए तड़प रहा था. मैंने अंडरवियर के ऊपर से ही रोहित का लंड टच

किया ..ऊऊह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह …. इतना कड़क ओह्ह्ह्ह्ह्ह्ह. मैंने झट से रोहित का अंडरवियर नीचे सरका दिया और रोहित का सेक्सी लंड मेरे सामने खड़ा था. वो लंड इतना प्यारा लग रहा था. उसके लंड पे बिल्कुल बाल नहीं थे

बिल्कुल साफ़ और कड़क, मैंने उसे हाथो में ले लिया और प्यार से सहलाने लगी. मुझे इतना अच्छा लग रहा था में अपने हाथो में रोहित का लंड आगे पीछे कर रही थी और रोहित भी उफ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़ ……. की आवाजे निकाल रहा था. मैंने देखा रोहित

को भी बहुत मजे आ रहे थे.फिर रोहित बोला रीना प्लीज इसे मुँह में लो. मेरी खुद की भी यही इच्छा थी. मैंने झट से रोहित का लंड अपने मुँह में ले लिया और बड़े प्यार से उसे चूसने लगी. हालांकि मैंने पहले अपने पति का लंड चूस रखा

है लेकिन रोहित का लंड चूसने में तो ……आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह में बता नहीं सकती लेकिन मुझे इतना मजा कभी नहीं आया. दिल कर रहा था रोहित का लंड खा जाऊ. रोहित की पूरी नंगी बॉडी अच्छी लग रही थी अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था मेरा

दिल कर रहा था अब रोहित जल्दी से अपना सेक्सी लंड मेरी चूत में डाल दे. शायद रोहित बिना कुछ कहे ही सब समझ जाता था उसने मेरी टाँगे उठाई और मेरे कुल्हो के नीचे एक तकिया रख दिया और मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया

…..ओह्ह्ह्ह्ह्ह्ह जैसे ही उसका लंड मेरी चूत में गया मुझे इतना सुकून महसूस हुआ. मुझे मेरी चूत में इतना मजा आ रहा था जैसे मीठी खुजली होने पे कोई उसे प्यार से कुरेद रहा हो. शायद मेरी फीलिंग्स वही औरत समझ सकती है जो खुद

इस अच्छे एहसास से गुजरी हो और रोहित जोर जोर से धक्के देने लगा. मैंने रोहित को कस के पकड़ रखा था और रोहित किसी मशीन की तरह तेजी से धक्के मार रहा था. मुझे ऐसा लग रहा था जैसे में कोई पोर्न फिल्म देख रही हूँ. बाप रे बाप

कितनी एनर्जी थी रोहित में. में थक रही थी और उससे चिपकी हुई थी और वो मेरे ऊपर नंगा होक जोर जोर से धक्के मार रहा था आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह .. थोड़ी देर बाद में डिस्चार्ज हो गयी. मैंने कहा रोहित में झड़ गयी अब प्लीज रुक

जाओ लेकिन वो अभी डिस्चार्ज नहीं हुआ फिर थोड़ी देर बाद वो भी डिस्चार्ज होने वाला था और रोहित ने मेरी चूत के अंदर अपना गाड़ा गर्म पानी छोड़ दिया. मुझे बहुत मजा आया ऐसा लगा जैसे किसी ने हल्का गर्म पानी अंदर डाल दिया और

रोहित मेरे ऊपर गिर गया. बहुत देर तक वो मेरे ऊपर नंगा ही रहा और बहुत अच्छी बातें करता रहा. हम आपस में किस करते रहे मेरा दिल कर रहा था रोहित मेरे ऊपर ऐसे ही बिना कपड़ो के पूरी जिंदगी रहे. मुझे आज से पहले कभी इतना मजा

सेक्स में नहीं आया जितना रोहित ने मजा दिया. वास्तव में मुझे रोहित से ही पता चला असली मर्द क्या होता है. फिर रोहित और में बाथरूम गए और पानी से अपने आपको साफ़ किया और मैंने रोहित का लंड अपने हाथ से साफ़ किया मुझे बहुत

मजा आया! फिर रोहित चला गया इसके बाद हम रेगुलर, जब भी मौका मिलते सेक्स करते रहते. बहुत बार तो दिन में ही में रोहित को बुला लेती , एक बार तो रोहित मेरे घर पे था और मेरे पति आ गए लेकिन मैंने रोहित को दुसरे रूम में छुपा

दिया और हम कभी पकड़े नहीं आये.बहुत बार रोहित मुझे अपने फ्रेंड के फ्लैट में भी ले के गया! मुझे रोहित से प्यार हो गया लेकिन रोहित ने पहले ही कह दिया था की हम एक दुसरे की जरूरतें पूरी करेंगे और कोई कमिटमेंट नहीं. मुझे

भी यह चीज अच्छी लगी! एक दिन मैंने रोहित से पुछा तुम ने मुझमे ऐसा क्या देखा तुम्हे तो और ख़ूबसूरत लडकिया भी मिल सकती है. तो वो बोला उसे अपने से बड़ी उम्र की औरतें ज्यादा अच्छी लगती है उसके पहले भी बड़ी उम्र की औरतों से

अफेयर रहे है.हालाँकि मुझे कोई फर्क नहीं पड़ा क्योकि में भी अपनी शादी शुदा जिंदगी में खुश हूँ ! लेकिन एक महीने पहले मेरे पति का ट्रांसफर कोटा से कही और हो गया और मुझे भी कोटा छोड़ना पड़ा लेकिन मैंने कोटा छोड़ने से पहले

रोहित को नहीं बताया और चुपचाप कोटा छोड़ दिया. और उसके बाद रोहित से कांटेक्ट भी नहीं किया क्योकि मुझे ऐसा महसूस होता है की अगर में उस से फोन पे बात करूगी तो में उसे कभी भूल नहीं पाओगी और उसे दुबारा अपने पास बुलाने के

लिए जिद करूगी.लेकिन दूसरी तरफ मुझे ऐसा भी लगता है की मैंने रोहित के साथ गलत किया कोटा से जाने से पहले उसे एक बार फोन जरूर करना चाहिए था क्योकि रोहित ने मुझे बहुत प्यार दिया. उसके साथ बिताया हुआ वक़्त मेरी जिंदगी का

सबसे अच्छा वक़्त था और उसने मुझे सच्चा सुख दिया! इसलिए पिछले कुछ दिनों से में बहुत परेशानी में हूँ और चेन से सो भी नहीं पा रही हूँ. प्लीज जो भी औरत, लड़की यह कहानी पड़ रही है तो मुझे सलाह दे की क्या मुझे रोहित को एक बार

फोन करना चाहिए या उसे भूलने की कोशिश करनी चाहिए मेरा मेल आई डी है reenagupta217 [at] yahoo.com और जो भी औरत कोटा से हो वो मुझे जरूर अपनी सलाह भेजे क्योकि कुछ और भी चीजे है जो मैंने कहानी में शेयर नहीं की है वो में मेल करके शेयर करूगी!
दोस्तों आज की एक और नई सेक्स कहानी पड़ने के लिये यहाँ क्लिक करें।
Notice For Our Readers

दोस्तो डाउनलोड क्र्रे हमारा अफीशियल आंड्राय्ड अप (App) ओर अनद लीजिए सेक्स वासना कहानियो का . हमारी अप(App) क्म डेटा खाती है और जल्दी लोड होती है 2जी नेट मे वी ..अप(App) को आप अपने फोन मे ओपन रख सकते है

अप(App) का डिज़ाइन आपकी प्राइवसी देखते हुए ब्नाई गयइ है.. अप(App) का अपना खुद का पासवर्ड लॉक है जिसे आप अपने हिसाब से सेट कर सकते ह .जिसे दूसरा कोई ओर अप(App) न्ही ओपन क्र सकता है और ह्र्मारी अप(App) का नाम sxv शो होगा आफ्टर इनस्टॉल आपकी गॅलरी मे .

तो डाउनलोड करे Aur अपना पासवर्ड सेट क्रे aur एंजाय क्रे हॉट सेक्स कहानियो का ...
डाउनलोड करने क लिए यहा क्लिक क्रे --->> Download Now Sexvasna App

हमारी अप कोई व किसी भी तारह के नोटिफिकेशन आपके स्क्रीन पर सेंड न्ही करती .तो बिना सोचे डाउनलोड kre और अपने दोस्तो मे भी शायर करे

   Please For Vote This Story
0