Home
Category
Sex Tips
Hinglish Story
English Story
Contact Us

दो चुउतो को चोदा एक साथ


दोस्तों ये कहानी आप सेक्सवासना डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

आज मै अपनी मस्त मजे वाली कहानी आप लोगो को बता रही हु लेकिन कहानी पढने के बाद मुझे रिप्लाई जरुर कीजियेगा … मैं और मेरे पति पिछले २३ सालों से इस छोटे से शहर में रहते हैं. शादी के बाद १९-२० साल तक तो हम सेक्स में बहुत

मजा करते थे. मगर बाद में धीरे धीरे हम सेक्स के मामले में ठन्डे होते गए. हमारे एक बेटी हुई. जिसकी हमने तीन साल पहले शादी कर दी. अब अकेलापम हमें खाने को दौड़ता. सेक्स में हम ठंडे हो गए तो और भी खालीपन लगता. मैं और मेरे

पति बहुत कोशिश करते मगर सेक्स को लेकर कोई उत्तेजना नहीं आती हम दोनों में. महीने में एकाध बार ही कोई इच्छा होती. हमारी बिल्डिंग में दो मंजिले थी और हर मंजिल पर दो फ्लेट थे. एक दिन हमारे सामने वाले खाली फ्लेट में

सामान आता दिखाई दिया. मैंने बाद में दरवाजे से बाहर देखा तो एक जवान लड़की दिखी. उसने बताया कि वो यहाँ रहने आई है. उसकी शादी हो चुकी है मगर उसके पति विदेश में नौकरी करते हैं. साल भर बाद उसे भी बुला लेंगे. उसका नाम सोनम

था. सोनम बेहद खुबसूरत और छरहरी थी. ख़ूबसूरत तो मैं भी बहुत थी मगर दिल में यही था कि अब मेरी उमर हो गई है. इसी कारण खुद की सुन्दरता नहीं दिखाई देती थी मुझे. मेरी और सोनम की दोस्ती हो गई. मेरे पति शंकर भी खुश हुए कि मेरा

दिल लगने लगेगा. हम दोनों रोज शाम की चाय एक साथ लेती और फिर शंकर के आने तक गपें लगाती. एक दूजे की पसंद ना पसंद तक जल्दी ही हम दोनों को पता चल गई. कुछ दिनों में हम और आपस में खुलकर बाते करने लगी. फिर एक दिन मेरे मुंह से यह

सब भी निकल गया हमारी सेक्स लाइफ के बारे में. सोनम ने हैरानी से कहा ” आप दोनों इतने ख़ूबसूरत हो फिर ऐसा क्यूँ?” मैंने सब कुछ डीटेल में बता दिया उसे. सोनम उस दिन चुपचाप चली गई; दो दिन बाद सोनम मेरे साथ चाय पीते पीते मुझ

से हम दोनों के सेक्स के सभी तरीके पूछे जो हम अपनाते थे. मैं पहले झिझकी मगर बाद में सब बता दिया. सोनम कुछ देर तक सोचती रही और बाद में बोली ” भाभी , मैं आपको वो सब बातें बताउंगी जिस से आपकी सेक्स लाइफ फिर से रंगीन और

जावानो जैसी हो जायेगी. हम कल से शुरुवात करेंगे.” मैं सोनम के जाने के बाद सोचती रही कि आखिर वो क्या बताएगी. सारी रात मैं अगले दिन की राह में सोई नहीं. दोपहर को सोनम ने मुझे अपने घर बुलाया. आप यह कहानी सेक्सवासना डॉट

कॉम पर पढ़ रहे है | मैं सोनम के बेडरूम में पहली बार गई आज. सोनम के बेडरूम में एक कोने में कुछ किताबें रखी हुई थी जो सेक्स रे रिलेटेड ही थी.सभी के कवर पर मर्द और उरतें कम से कम कपड़ों में लिपटे दिख रहे थे.. पलंग पर लाल रंग

की चद्दर बिछी हुई थी. सोनम ने कहा ” भाभी , मेरे नसीब में सेक्स पूरे एक साल बाद आयेगा. मैं इन किताबों से ही काम चलाती हूँ. सोनम ने एक किताब ली और मुझे अपने पास बिठाकर उसके पन्ने पलटने लगी. एक पन्ने पर कोई लेख था. सोनम ने

कहा ” भाभी, सबसे पहले हम इसी लेख से शुरू करते हैं. इसमें एक दूसरे को उत्तेजित करना सिखाया गया है.” मै उन तस्वीरों को देखने लगी और साथ ही उस लेख को भी पढने लगी. फोटो देखते हुए कुछ अजीब सा लगा मगर फिर सब शांत हो गया.

मुझमे कोई उत्तेजना नहीं आई जैसा सोनम ने कहा था. मैंने सोनम को सब कहा . सोनम मेरे एकदम पास बैठी हुई थी. सोनम ने मेरे गले में अपने हाथ डाले और मेरे गालों से अपने गाल टच करते हुए बोली ” आप इतनी ठंडी कैसे हो भाभी. इन फोटो

को देखने के बाद तो मैं तकिया दबाकर और अपनी टांगों को आपस में रगड़कर सोती हूँ.” मैं कुछ ना बोली. क्यूंकि बोलने जैसा कुछ था ही नहीं. सोनम ने अचानक मेरे गालों को चूमा और बोली ” भाभी सेक्स के लिए गरम होना सीखो जैसा आप

पहले होती थी.” सोनम का मेरे गाल चूमना मुझे थोड़ी सिहरन दे गया. अगले दो दिन मेरा सोनम से मिलना नहीं हो सका क्यूंकि मेरे घर कोई रिश्तेदार आये हुए थे. तीसरे दिन मैं खुद ही चाय बनाकर सोनम के घर चली गई. सोनम और हम चाय पीने

लगे. सोनम बोली ” भाभी , मैंने कुछ सोचा है आपके लिए. कल रात मैंने टीवी पर एक अंग्रेजी फिल्म देखी थी . उसमे ऐसी औरतों को गरम होना बताया गया था जैसा आपका केस हैं. इस से आप भी फिर से सेक्स के लिए फ्रेश होना और गरम होना सीख

जाओगी और मेरा भी अकेलापन कुछ हद तक पूरा हो जाय्गेया. ” मैंने चौंक कर उस की तरफ देखा कि ये क्या कहना चाहती है. सोनम ने मेरी तरफ मुस्कुराकर देखा और बोली ” भाभी, इस तरह से भोली और ठंडी रहोगी तो कैसे आगे बढ़ेगी गाडी

बिस्तर में मजा करने की. आओ हम शुरुवात करते हैं.” सोनम ने मुझे अपनी बाहों में भरा और बोली ” आप ये समझो कि मैं आपके वो हूँ और हम सेक्स की शुरुवात कर रहे हैं. ओके रेडी.” मैं मुस्कुराई और शर्मा गई. सोनम ने मुझे अपनी बाहों

में और जोर से जकड़ा और बोली ” डार्लिंग इतना भी क्या शरमाना मुझ से. मेरी जान तुम तो आज मुझे कहीं का नहीं रखोगी इतना गज़ब ढा रही हो” मैं दूर होने लगी तो सोनम ने मुझे अलग किया और बोली ” भाभी, ऐसे कपडे नहीं पहनना है आपको

रात को. आप छोटे छोटे कपडे पहना करो. जैसे एकदम छोटा स्कर्ट , स्पोर्ट्स ब्रा. वैसे सबसे सेक्सी टॉप ट्यूब टॉप होता है. मर्द एकदम से पिघल जाते हैं ट्यूब टॉप में महिला को देखकर. रुकिए मैं आपको ये दोनों ही लाकर पहनाती

हूँ.” सोनम ने मुझे एक बहुत ही छोटा कपड़ा पहना दिया और ऊपर एक गोल कपड़ा जिसे उसने ट्यूब टॉप जहा पहना दिया. मैंने जब खुद को आईने में देखा तो हैरान रह गई. आप यह कहानी सेक्सवासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे है | मैं एकदम अलग लग रही थी.

सोनम ने अब खुद अपनी लम्बी कमीज उतारकर एक स्लीवलेस बनियान पहन ली और एक हाल्फ पेंट पहन लिया और मुझे फिर से बाहों में भर लिया और बोली ” डार्लिंग इतना भी क्या शरमाना मुझ से. मेरी जान तुम तो आज मुझे कहीं का नहीं रखोगी

इतना गज़ब ढा रही हो.. इस हॉट स्कर्ट और ट्यूब टॉप में तुम किसी कातिल हसीना से कम नहीं लग रही हो. ऐसा लग रहा है जैसे मेरे सामने रसमलाई है और मैं बहुत ही भूखा हूँ.” मैं हंस पड़ी. तभी सोनम ने मेरे गाल पर एक लंबा चुम्बन लिया.

मैं सरसरा उठी. सोनम ने मुझे और कसकर अपनी बाहों में जकड लिया और ट्यूब टॉप के कारण नंगे कन्धों और गले को हौले हौले चूमने लगी. सोनम के नाजुक होंठ मेरे ऊपर असर करने लगे. सोनम बोली ” ऐसे ही शुरुवात होती है भाभी. कम से कम

कपडे किसी भी मर्द की नीयत ख़राब कर सकते हैं. मैं सोनम की इस बात को मन ही मन मान गई कि मैं अब रात को ऐसे ही कपडे पहनूंगी. मैं बार बार आईने में खुद को देखती तो हैरान हो जाती. मेरी नंगी गोरी टांगें बहुत सेक्सी दिख रही थी.

उस पर से मेरा स्तनों के ऊपर का नंगा बदन और कंधे किसी अंग्रेजी फिल्म की हीरोइन से कम नहीं बता रहे थे. मैंने अपने आपको कभी ऐसा महसूस नहीं किया था जैसा आ कर रही थी. ये सब सोनम का कमाल था. मैं थोड़ी देर बाद घर लौट आई. सोनम

ने मुझसे कहा ” हम लगातार ये ट्रेनिंग जरी रखेंगे भाभी.” रात को मैंने सोनम के दिए वे दोनों कपडे पहन लिए और चद्दर ओढ़कर लेट गई. शंकर आये और मुझे चद्दर ओढा देखकर बोले ” गर्मी के मौसम में तुमने चद्दर ओढ़ रखी है” मैंने

शरारत से मुस्कुराकर कहा ” तुम ही हटा दो अगर गर्मी है तो” शंकर थोड़ा रुके और फिर उन्होंने चद्दर खिंच कर दूर हटा दी. आप यह कहानी सेक्सवासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे है | उन्होंने जैसे ही मुझे शोर्ट स्कर्ट और टीब टॉप में देखा

उनकी आँखें फटी की फटी रह गई. मेरा आधा खुला हुआ गोरा चिकना बदन , मेरे ट्यूब टॉप के नीचे छुपे हुए स्तन जो अपनी गोलाई के कारण किसी बहुत बड़े रसगुल्लों की तरह नज़र आ रहे थे. मैंने अपनी टांगों को यहाँ वहाँ सोनम के सिखाये

अनुसार फैलाना शुरू किया. शंकर की आँखों से मुझे यह लगने लगा कि उनकी नीयत शायद कुछ कुछ डोल रही है. उन्होंने मुस्कुराकर कहा ” ये नया अवतार कैसे ” मैंने कहा ” मैं वो ही हूँ, बस थोडा बहक गई हूँ” शंकर ने आगे बढ़कर मुझे

बैठाया और फिर बाहों में भर लिया. मैंने तुरंत अपने गाल शंकर के आगे कर दिए. शेख ने उन्हें चूमा. एक बार नहीं बार बार चूमा. मैंने मन ही मन सोनम को धन्यवाद् किया. अब मैंने शंकर के गाल चूम लिए. इन चुम्बनों का हम दोनों पर

थोडा असर हुआ. मैंने अब शंकर की टी शर्ट उतार दी और शोर्ट भी उतार दिया. शंकर मुझे लेकर अपने लिपटा कर मेरे खुले कन्धों को बेतहाशा चूमने लगे. मुझे नशा आने लगा था. मैंने धीरे से ट्यूब टॉप सोनम के बताये अनुसार नीचे खिंच

लिया. मेरे स्तनों का उपरी गोल हिस्सा थोड़ा सा बाहर झाँकने लगा. शंकर ने एक ललचाई नज़र मुझ पर डाली और उन गोलाइयों को इतना जोर से चूमा कि मेरा सीना गीला कर दिया. हम दोनों इसी चुम्बनों के दौर से मदहोश हो गए. एक लम्बे

अरसे के बाद आज हम दोनों को इतना नशा आया था. करीब आधे घंटे के बाद शंकर मुझे अपनी बाहों में भरकर पलंग में लेट गए और मेरी गर्दन के नीचे और खुले हुए सीने को काफी देर तक चूमते रहे. मुझे बहुत अच्छा लगा मगर मैं पता नहीं

क्यूँ शंकर को चूम नहीं पाई और खुद को ही चुमवाती रही. मैंने मन ही मन तय किया कि कल सोनम से इसके बारे में बात करुँगी. आप यह कहानी सेक्सवासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे है | अगले दिन दोपहर के खाने के बाद ही मैं सोनम के घर चली गई.

सोनम मेरे चेहरे से समझ गई कि कोई खुश खबर है. मिने सोनम को बीती रात की सब बात बता दी. सोनम बहुत खुश हो गई. मैंने सोनम को अपनी कमजोरी बताई . सोनम ने कहा ” भाभी, इसका इलाज भी मेरे पास है. आज मैं वो ही बताने वाली हूँ.” मैं खुश

हो गई. सोनम ने और मैंने कल वाले ही कपडे पहन लिए. सोनम ने मुझे बाहों में लिया और बोली ” भाभी ऐसे सूखे होंठों को कौन चूमेगा. आओ मैं आपको कुछ बताती हूँ.” सोनम ने अपने पर्स में से लिपस्टिक निकाला और गहरे लाल रंग से मेरे

होंठों को रंग दिया मगर बाद में साफ़ कर दिया और कहा ” लिपस्टिक के साथ चुम्बन मैं कल बताउंगी…
दोस्तों आज की एक और नई सेक्स कहानी पड़ने के लिये यहाँ क्लिक करें।
Notice For Our Readers

दोस्तो डाउनलोड क्र्रे हमारा अफीशियल आंड्राय्ड अप (App) ओर अनद लीजिए सेक्स वासना कहानियो का . हमारी अप(App) क्म डेटा खाती है और जल्दी लोड होती है 2जी नेट मे वी ..अप(App) को आप अपने फोन मे ओपन रख सकते है

अप(App) का डिज़ाइन आपकी प्राइवसी देखते हुए ब्नाई गयइ है.. अप(App) का अपना खुद का पासवर्ड लॉक है जिसे आप अपने हिसाब से सेट कर सकते ह .जिसे दूसरा कोई ओर अप(App) न्ही ओपन क्र सकता है और ह्र्मारी अप(App) का नाम sxv शो होगा आफ्टर इनस्टॉल आपकी गॅलरी मे .

तो डाउनलोड करे Aur अपना पासवर्ड सेट क्रे aur एंजाय क्रे हॉट सेक्स कहानियो का ...
डाउनलोड करने क लिए यहा क्लिक क्रे --->> Download Now Sexvasna App

हमारी अप कोई व किसी भी तारह के नोटिफिकेशन आपके स्क्रीन पर सेंड न्ही करती .तो बिना सोचे डाउनलोड kre और अपने दोस्तो मे भी शायर करे

   Please For Vote This Story
23
10