Home
Category
Sex Tips
Hinglish Story
English Story
Contact Us

आख़िर बहेन मे भी कीड़ा था चुदवने का


दोस्तों ये कहानी आप सेक्सवासना डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

ही गर्ल्स आंड बाय्स आज मैं आप को जो कहानी सोनने जेया रहा हूँ वो किसी और की नही खुद मेरी अपनी चोटती कंवारी बेहेन की है. ये ऊस वक़्त की बात है जब मैं 19 साल का और मेरी छोटी कुवारि बेहेन 18 साल की थी मेरा नाम रमेश है मेरी

बेहेन का नाम रूपा हा, रूपा अपनी उमेर से बरी लगती थी इस की वजा ऊस की सेहत थी सिडोल जिस्म खूबसूरत चूतर ऊस के मुममे 30 नो के थे और कमर भी 30 की थी. हम 1 भाई और 3 सिस्टर्स थी दूसरी का नाम रानी था जो 17-साल की थी और तीसरी का नाम

नाज़ी था जो 15 साल की थी मैं शोरू से ही अपनी बहेनॉन मैं इंटेरेस्ट लेता था और ऊन सब का जिस्म देखना चाहता था मैं हमेशा मौके की तलाश मैं रहता था. ऐक दिन रात अपना हाथ रूपा के पॅयेट (स्टमक) पेर रख दिया लेकिन रूपा कुछ नही

बोली हम दोनो मैं अंडरस्टॅंडिंग बुहुत थी अब मैं ने अपना हाथ रूपा के पैट पर आहिस्ता आहिस्ता फेरने लगा वो फिर भी कुछ ना बोली अब मेरी हिमत कुछ और बर गयी अब मैं ने रूपा से कहा रूपा तुम्हारा पैट तो बुहुत नरम मुलायम है

अगर इजाज़त दो तो मैं तुम्हारी क़मीज़ उठा कर तुम्हारे पैट पेर हाथ फेर लून मेरी बेहेन ने खुद ही अपनी क़मीज़ उठा दी और बोली भैया ये कोंसि बात है आख़िर तुम मेरे सगे बेरे भाई हो, अब मैं ने अपनी सग़ी कंवारी बेहेन के नंगे

पैट पेर हाथ फेरने लगा और आहिस्ता आहिस्ता अपना हाथ ऊस के मुमूं की तरराफ ले जाने लगा वो खामोश लेती हुई थी अब मैं ने अपना हाथ हल्के से ऊस के मामून से टच कर दिया लेकिन मेरी बेहेन कुछ ना बोली अब मैं ने अपनी बेहेन के

मोम्मो को दबाना शोरू कर दिया और फिर मैं ने अपना हाथ से अपनी बेहेन की ब्रा उलट दी अब मेरे हाथ ऊस के मामून को दबा और मसल रहा थे और मैं ने महसूस किया मेरी बहेन के मूँह से हल्की हल्की सिसकारियाँ निकल रही थीअब मैं अपना

हाथ अपनी बहेन की जंगों पर ले गया वहाँ पर बाल बिल्कुल नही थे अब मैं ने अपनी छोटी कंवारी बहेन की कंवारी चूत पेर हाथ फेर रहा था, दोस्तों ये कहानी आप सेक्सवासना डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और मेरी बहेन मज़े ले रही थी,अब मैं

ने अपनी बहेन की शलवार उतार दी और ऊस को कहा की अपनी क़मीज़ भी उतार दो आख़िर तुम मेरी छोटी बहेन हो और बहेन भाई मैं parda नही होता अब मेरी बेहेन मेरे सामने बिल्कुल नंगी लेती हुई थी.मेरा लंड अब टुक फॉलद हो चक्का था मैं उठ कर

बहिर गया ता के सब का जायज़ा ले सकूँ सब लोग फिल्म देखने मैं मसरूफ़ थे मैं ने आहिस्ता से दरवाज़ा भेर दिया लेकिन पूरा बूँद नही किया की किसी को शक ना हो अब मैं ने अंदर आ कर लाइट जला दी और खुद भी पूरा नंगा हो गया अब रोशनी

मैं हम दोनो बहेन भाई ऐक दूसरे को नंगा देख रहे थे. अब मैं ने अपना लंड अपनी बहेन के मूँह मैं डाल और कहा रूपा अपने भाई का लंड चूस और इस की मनी खा जा रूपा मेरा लंड चूसने लगी वो बुहुत अछा लंड चूस रही थी और जल्द ही मैं अपनी

बहेन के मूँह मैं झाड़ गया और वो मेरी सारी वीर्य खा गयी और कुछ वीर्य ऊस ने अपनी चूत पेर माल ली अब मैं ने रूपा को बेड पेर लिटा दिया और खुद ऊस की चूत चाटने लगा अब रूपा तार्पने लगी कहने लगी भाईया और तेज़ चतो मेरी चूत को

खा जाओ वो साथ साथ अपनी चूत को ऊपेर नीचे कर रही थी अब ऊस ने कहा भाईया अब तुम मुझ को जल्दी से चोद दो बस फिर काइया था मैं ने तेल की बॉटल उठाई और अपने लंड और अपनी छोटी कंवारी बेहेन की चूत पेर खूब सा आयिल लगाया अब मेरी

बेहेन ने बिल्कुल रंडी की तरहा अपनी दोनो टाँगे ऊपेर उठा लीं अब नीचे से ऊस की कंवारी चूत का छोटा सा सूराख सॉफ नज़र आ रहा था जिसको मेरा लंड खुला केरने क लिए बेताब था अब मैं अपना लंड अपनी ब्रह्र्न की चूत के सूराख पेर

रखा और हल्के से दबाया मेरा टोपा मेरी बेहेन की चूत मैं चला गया लेकिन बेहेन ने कहा भैया दर्द हो रहा है मैं ने कहा रूपा बहेन दर्द तोरा दोस्तों ये कहानी आप सेक्सवासना डॉट कॉम पर पड़ रहे है। हो गा लेकिन मज़ा ज़ियादा आय

गा बस तुम आवाज़ ना निकलना नही तो अम्मी अब्बा आ जैन गे वो बोली ठीक है अब मैं ने अपनी बेहेन की चूत को चोदने शोरू कर दिया और मेरा पूरा लंड मेरी बेहेन की चूत मैं था मैं अपनी बेहेन की चूत का परदा भी फार चक्का था जो इज़ात

का परदा होता है यानी मैं ने अपनी बेहेन की इज़्ज़त लूट ली थी और मेरी बेहेन की चूत मैं से कुछ कुछ खून भी आ रहा था. अब मेरी बेहेन ने शोर केरना शोरू कर दिया मैं ने कहा रूपा शोर ना केरो कोई आ जे गा तो बोली भैया तुम ने मज़ा

इतना दिया है क खुद ब खुद आवाज़ मूँह से निकल रही है अब हम दोनो ****ने वाले थे मैं ने अपनी बेहेन से कहा रूपा मेरी माल निकालने वाली है काइया केरूँ अंडर ही निकल डून या लंड बहिर निकालून मेरी बेहन बोली जब चूत खुल गई तो माल भी

इस के अंडर ही निकालो मैं तुम्हारा बचा पैदा केरूँ गी अपनी माल मेरी बचा दानी मैं निकालो पूरा लंड अंडर दल दो अब मैं ने बुहुत तेज़ी से लंड अपनी बहेन कीचुत के अंडर बहिर केरने लगा और रूपा भी बुहुत शोर केरने लगी थी और

तेज़ और तेज़ भाई मेरी चुत फार दो पूरी चुत खोल दो अब हम आखरी लम्हों मैं थे की अचानक बुआ अंदर आ गयी और मुझे अपनी छोटी बेहेन को चोदते हुए देख लिया आगे क्या हुआ दोस्तो मे आपको अपनी अगली स्टोरी मे बतता हू कैसे मैने बुआ को

पटाया ओर कैसे उनकी भी चूत फाडी तबतक के लिए आते रहिए सेक्सवासना डॉट कॉम पे ओर आनंद लीजिए कामुक कहानियो का
दोस्तों आज की एक और नई सेक्स कहानी पड़ने के लिये यहाँ क्लिक करें।
Notice For Our Readers

दोस्तो डाउनलोड क्र्रे हमारा अफीशियल आंड्राय्ड अप (App) ओर अनद लीजिए सेक्स वासना कहानियो का . हमारी अप(App) क्म डेटा खाती है और जल्दी लोड होती है 2जी नेट मे वी ..अप(App) को आप अपने फोन मे ओपन रख सकते है

अप(App) का डिज़ाइन आपकी प्राइवसी देखते हुए ब्नाई गयइ है.. अप(App) का अपना खुद का पासवर्ड लॉक है जिसे आप अपने हिसाब से सेट कर सकते ह .जिसे दूसरा कोई ओर अप(App) न्ही ओपन क्र सकता है और ह्र्मारी अप(App) का नाम sxv शो होगा आफ्टर इनस्टॉल आपकी गॅलरी मे .

तो डाउनलोड करे Aur अपना पासवर्ड सेट क्रे aur एंजाय क्रे हॉट सेक्स कहानियो का ...
डाउनलोड करने क लिए यहा क्लिक क्रे --->> Download Now Sexvasna App

हमारी अप कोई व किसी भी तारह के नोटिफिकेशन आपके स्क्रीन पर सेंड न्ही करती .तो बिना सोचे डाउनलोड kre और अपने दोस्तो मे भी शायर करे

   Please For Vote This Story
18
9